December 10, 2022

जाम की कहर से कराहता शहर, रेंगती गाड़ियां, फंसते लोग

तिलौथू (रोहतास)। डेहरी अनुमंडल अंतर्गत शहरी तथा ग्रामीण क्षेत्रों में प्रतिदिन जाम से कराह रहा शहर, रेंगती रही गाड़ियां तथा फंसते रहे लोग। इस संबंध में लोगों ने बताया कि करीब 50 हजार लोगों की परेशानी जाम से बढ़ गयी है। प्रतिदिन की तरह सुबह से शाम तक मुख्य सड़क के बार-बार जाम होने से शहरवासी परेशान व हलकान हैं। वहीं जाम हटाने के लिये पुलिस प्रशासन के साथ कुछ होमगार्ड के जवानों को प्रमुख चौक-चौराहों पर लगा रखी है लेकिन इन होमगार्ड के जवानों को वाहन चालक महत्व नहीं दे रहे हैं। बल्कि मुख्य सड़क पर बस लगाने से मना करने पर उनसे ही उलझ पड़ते हैं। इस कारण कई बार तू-तू, मैं-मैं की स्थिति बन जाती है। लोग समझ नहीं पा रहे कि आखिर पुलिस-प्रशासन किस काम में व्यस्त हैं। जबकि शहरवासी जाम की समस्या से परेशान हैं। इसका मुख्य कारण बीच शहर में बस स्टैंड के साथ सड़क अतिक्रमण की गिरफ्त में है। नगरवासी शहर के किसी रोड में चार चक्का वाहन लेकर चले जायें तो उन्हें फंसना ही नियति है। इसके आलोक में कहा गया कि डेहरी स्टेशन रोड में अधिक जाम लगते हैं। इससे कई बार लोग ट्रेन भी नहीं पकड़ पाते। इसका मुख्य कारण बीच सड़क पर बसों का ठहराव है। स्टैंड से बसें खुलते ही स्टेशन के मुख्य द्वार पर पैसेंजर के इंतजार में मुख्य सड़क पर खड़ी रहती है। वहीं ट्रैफिक पुलिस द्वारा बोलने पर कुछ दूर बढ़ाने के बाद फिर रोक दी जाती है। इसी बीच दूसरे वाहन के आने से उक्त स्थल पर महाजाम की स्थिति बन जाती है। स्टेशन रोड में दोनों तरफ सब्जी दुकानदारों व स्टेशन परिसर के अंदर में दोनों साइड में जीआरपी की मिलीभगत से बड़े पैमाने पर फल की दुकान लगाकर अपना कब्जा जमा रखे हैं। वहीं नगरवासी ने बताया कि डेहरी थाना चौक भी टेंपो स्टैंड के कारण जाम की गिरफ्त में रहता है। शहर के थाना चौक भी प्रशासन की शिथिलता का लाभ उठाकर स्टैंड बन गया है। नगर में जाम के संबंध में लोगों ने बताया कि बस हो या फिर टेंपो सभी प्रकार के वाहन थाना चैक पर लगने लगे हैं। इससे आम लोगों की काफी परेशानी बढ़ चुकी है। इसमें खासकर रूट की छोटी व बड़ी सभी प्रकार की यात्री गाड़ियों का चौक के समीप ठहराव होता है। इससे वहां भी बराबर जाम की स्थिति बनी रहती है। वहीं नगर के प्रबुद्ध लोगों ने संवाददाता को बताया कि अगर आप रामारानी चौक पर जाम में फंस गये तो भगवान ही मालिक हैं। इस स्थान पर घंटों जाम लगता है और लोग परेशान रहते हैं। बस तथा ट्रक चालक सभी नियम कानून को ताक पर रखकर वहां से गुजरते हैं। भारी वाहनों के प्रवेश से बाइक से निकलना भी मुश्किल होता है। भारी वाहनों के प्रवेश से शहर में परेशानी और बढ़ती जा रही है। आॅफिस का समय हो या स्कूल का समय शहर में भारी वाहनों को प्रवेश करने से रोकने की सभी व्यवस्था फेल है। शहर के अंबेडकर चौक से थाना चौक पर भारी वाहनों के प्रवेश से शहरवासी परेशान रहते हैं। इस संबंध में अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी अनवर जावेद अंसारी ने कहा कि प्रतिदिन जाम की समस्या से निपटने के लिये हर चौक-चौराहे पर पुलिस बल तैनात किये गये हैं फिर भी टेंपो चालक भाड़ा के चलते इधर-उधर भाग-दौड़ करते रहते हैं, जिससे जाम की समस्या उत्पन्न हो जाती है।

About Post Author

You may have missed