August 11, 2022

PATNA : DM ने अनुमंडल कार्यालय  पालीगंज का किया निरीक्षण, एक लिपिक को किया निलंबित

पटना , पालीगंज। शनिवार को पटना DM चंद्रशेखर सिंह ने पालीगंज अनुमंडल कार्यालय का निरीक्षण कर एक लिपिक को निलंबित कर दिया। जानकारी के अनुसार पटना जिलाधिकारी डॉ. चन्द्रशेखर सिंह शनिवार को अनुमंडल कार्यालय, पालीगंज का नियमित निरीक्षण किया। जहां उन्होंने आम लोगों से फीडबैक प्राप्त किया तथा लोक सेवा केंद्र, लोक शिकायत निवारण कार्यालय, भूमि सुधार उप समाहर्ता कार्यालय, निर्वाचन कार्यालय, आपूर्ति शाखा सहित विभिन्न शाखाओं एवं कार्यालयों का निरीक्षण किया, पदाधिकारियों एवं कर्मियों की उपस्थिति की जांच की, उनका परिचय प्राप्त किया तथा उनके दायित्वों एवं कार्यों की जानकारी ली। इस दौरान DM ने पाया कि अनुमंडल कार्यालय का लिपिक सह नाजिर जितेन्द्र सिंह अनधिकृत रूप से अनुपस्थित है। अनुमंडल पदाधिकारी ने बताया कि वे 30 जुलाई, 2022 तक अवकाश पर थे परन्तु अवकाश समाप्ति के बाद भी कार्यालय में उपस्थित नहीं हुए हैं। उनके बारे में यह भी बताया गया कि वे आदतन कार्यालय से अनधिकृत रूप से अनुपस्थित रहते है। इस कारण कार्यालय के कार्यों में बाधा आती है। वही नाजिर जितेंद्र सिंह के अनुपस्थित रहने के कारण नजारत संबंधी मामलों की पूर्ण समीक्षा नहीं हो पाई।

नजारत की सामान्य समीक्षा के क्रम मे यह पाया गया कि अनुमंडलीय नजारत शाखा में लगभग 1,71,12,959 (एक करोड़ एकहत्तर लाख बारह हजार नौ सौ उनसठ) रुपया से अधिक की अवशेष राशि पड़ी हुई है जबकि इसे सरकारी खजाने में जमा कर देना चाहिए था। DM ने इस पर सख्त नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि वर्ष 2018 में ही सरकार का स्पष्ट निदेश था कि जिस राशि का उपयोग नहीं किया जा सकता है या जो योजना बंद हो चुकी है,  उन योजनाओं की अवशेष राशि को संबंधित शीर्ष में जमा कर देना है। DM ने इस लापरवाही पर गंभीर नाराजगी व्यक्त की। वही इस तरह की लापरवाही देख DM ने नाजिर जितेन्द्र सिंह को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया। साथ ही उन्होंने अनुमंडल पदाधिकारी को नाजिर के विरूद्ध विभागीय कार्रवाई प्रारंभ करने के लिए प्रपत्र ‘क’  गठित कर उपलब्ध कराने का निदेश दिया। DM ने जिला लेखा पदाधिकारी को भी निदेशित किया कि वे अनुमंडल के नजारत का गहन निरीक्षण कर शीघ्र प्रतिवेदन समर्पित करें।

You may have missed