December 6, 2022

बिहार उपचुनाव में उम्मीदवारों पर नजर रखेगा निगरानी विभाग, त्योहारों में मतदाताओं को तोहफे देने पर बढ़ेंगी मुश्किलें

पटना। दीपावली व महापर्व छठ को लेकर चुनाव आयोग की नजर प्रत्याशियों की गतिविधियों पर है। प्रत्याशी अपने मित्रों व रिश्तेदारों से मिलकर दीपावली गिफ्ट भेट करते हैं, तो उस पर भी आयोग की नजर है। प्रत्याशी के द्वारा दीपावली गिफ्ट के बहाने वोटरों को लुभाने का प्रयास तो नहीं किया जा रहा है। साथ दीपावली गिफ्ट में क्या है, उसकी कीमत का आकलन भी किया जायेगा। वही अगर वोट को प्रभावित करने वाला गिफ्ट होगा, तो उस पर आयोग के निर्देश कार्रवाई की जायेगी। इन सभी तथ्यों से अवगत कराते हुए व्यय प्रेक्षक जाहिद परवेज ने फ्लाइंग स्क्वायड व स्टैटिक टीम के अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा इस गतिविधि पर पैनी नजर रखें। वही गोपालगंज में प्रवेश के सभी मार्गो में स्टैटिक सर्विलांस टीम के अधिकारियों को लगाया गया है। जिनके द्वारा जिले में आने-जाने वाले वाहनों व लोगों पर पैनी नजर रखी जा रही है। वाहनों की गहन जांच हो रही है। हर हाल में विधानसभा चुनाव को स्वच्छ व निष्पक्ष तरीके से कराया जायेगा।
बिहार में दो सीटों पर उपचुनाव
विधानसभा उपचुनाव को लेकर तीन स्टैटिक प्वाइंट बनाया गया है, जहां पर तीन शिफ्टों में अधिकारियों की तैनाती की गयी है। यानी इन मार्गों से होकर गुजरने वाले वाहनों व लोगों की जांच स्टैटिक टीम के द्वारा 24 घंटे की जा रही है। टीम में तीन-तीन दंडाधिकारी और पुलिस पदाधिकारी को प्रतिनियुक्त किया गया है। बिहार में दो सीटों पर उपचुनाव हो रहा है। गोपालगंज की सीट भाजपा विधायक सुभाष सिंह के निधन के बाद खाली हुई है। भाजपा ने उनकी पत्नी को उम्मीदवार बनाया है। जबकि इसबार जदयू राजद के साथ महागठबंधन में है। वहीं बसपा ने साधु यादव की पत्नी इंदिरा यादव को मैदान में उतारा है जबकि ओवैसी की पार्टी AIMIM भी मैदान में है।

About Post Author

You may have missed