December 10, 2022

नौबतपुर में बनाया जाये शहीद भगत सिंह स्मारक-प्रयास एक पहल

नौबतपुर-प्रयास एक पहल संस्था की ओर से शुक्रवार को अमर शहीद भगत सिंह की 111 वीं जयंती मनाई गई। इस मौके पर शहीद ए आजम भगत सिंह की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि दी गई और भावपूर्ण स्मरण किया गया।
मौके पर प्रयास एक पहल के अध्यक्ष राकेश तिवारी ने कहा कि भगत सिंह का सपना जातिविहीन, शोषणविहीन समाज का निर्माण करना था। इस अन्याय पूर्ण व्यवस्था की जगह न्यायपूर्ण व बेहतर समाजवादी व्यवस्था के बिना हमारा देश सशक्त स्वावलंबी व समृद्ध नहीं बन सकता। उन्होंने कहा कि निडरता एंव निर्भयता भगत सिंह के मन में कूट कूट कर भरी थी। कभी न हार मानना व सत्य की राह पर चलकर देश को आजाद करवाना हमेशा उनके जीवन का लक्ष्य रहा। सरदार भगत सिंह एक उच्च कोटी के देश भक्त व देश प्रेमी तो थे ही साथ ही वे एक महान विचारक भी थे। वही उपाध्यक्ष बंटी ने कहा कि हम शहीदों के बलिदान की बदौलत ही खुली हवा में सांस ले रहे हैं। देश को आजादी दिलाने के लिए वीर भगत सिंह ने अपने प्राणों की शहादत दी। हम शहीदों का ऋण कभी नहीं चुका सकते। उन्हें याद करके और उनके दिखाए मार्ग पर चल कर हमें देश हित में कार्य करना चाहिए। संस्था के तरफ से मांग की गई कि नौबतपुर में एक शाहिद भगत सिंह का स्मारक बने वही कोषाध्यक्ष शुभम चंद्रा ने कहा कि देश को आजादी दिलाने में शहीद ए आजम भगत सिंह ने अहम भूमिका निभाई है। उन्होंने छोटी सी उम्र में ही इंकलाब का नारा बुलंद करते हुए ब्रिटिश हुकूमत को हिला कर भारत छोड़ने के लिए मजबूर कर दिया था। मौके पर संस्था के सदस्य गोलू,चंदन शर्मा,मृत्युंजय,आशुतोष,जितेंद्र उज्ज्वल राज सहित अन्य सदस्य उपस्थित थे

About Post Author

You may have missed