February 5, 2023

18 जनवरी के बाद मोदी मंत्रिमंडल का होगा विस्तार, बिहार से कई चेहरों को मिलेगी जगह

पटना। 2024 के लोकसभा चुनाव के पहले मोदी मंत्रिमंडल में आखिरी फेरबदल इसी महीने देखने को मिल सकता है। जी हां, दिल्ली के सियासी गलियारे में लगातार इस बात की चर्चा हो रही है। माना जा रहा है कि 2024 की चुनावी तैयारी को ध्यान में रखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने कैबिनेट में बड़ा बदलाव कर सकते हैं। वही केंद्रीय कैबिनेट में शामिल कई मंत्रियों को अब संगठन में जगह दी जा सकती है, साथ ही साथ कुछ ऐसे नए चेहरे जो भविष्य के लिए फायदेमंद साबित हों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उनपर भरोसा जता सकते हैं। केंद्रीय मंत्रिमंडल में फेरबदल की खबरों के बीच इस वक्त दिल्ली स्थित मंत्रालयों में बेचैनी भी देखने को मिल रही है। हर कोई जानना चाहता है कि फेरबदल में किस का पता कटेगा और किसके लिए जगह बन जाएगी। दरअसल चर्चा के मुताबिक इसी महीने 18 से 25 जनवरी के बीच केंद्रीय मंत्रिमंडल का फेरबदल हो सकता है। इसके पीछे तर्क भी दिए जा रहे हैं, बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी 16 और 17 जनवरी को बुलाई गई है। 23 जनवरी को जेपी नड्डा बीजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष के तौर पर अपना कार्यकाल पूरा कर रहे हैं। संसद का बजट सत्र 31 जनवरी से शुरू होने वाला है। ऐसे में अगर केंद्रीय मंत्रिमंडल के अंदर फेरबदल होना है तो यह 26 जनवरी के पहले यानी 25 जनवरी और 18 जनवरी के बाद यानी बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी खत्म होने के बाद हो सकता है। बीजेपी के राष्ट्रीय नेतृत्व पर फैसले के साथ-साथ अगर केंद्रीय कैबिनेट में शामिल कुछ चेहरों को संगठन में लाया जाता है तो उनकी भूमिका भी तय की जाएगी।
मोदी मंत्रिमंडल में चिराग पासवान को मिल सकती है जगह
वही प्रधानमंत्री मोदी के कैबिनेट विस्तार की खबरों के साथ-साथ बिहार की राजनीति भी गर्म होती जा रही है। ऐसा माना जा रहा है कि लोकसभा और विधानसभा के चुनावों को ध्यान में रखते हुए बिहार के कई चेहरों को मोदी मंत्रिमंडल में जगह दी जा सकती है। इन चेहरों में लोजपा रामविलास के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान का नाम सबसे ऊपर चल रहा है। हालांकि अभी तक चिराग पासवान ने औपचारिक रूप से एनडीए के साथ अपने गठबंधन का ऐलान नहीं किया है लेकिन जिस प्रकार से वह बिहार में हुए उपचुनावों में बीजेपी के लिए खुलकर प्रचार करते हुए नजर आ रहे थे, उसको देखते हुए अब ऐसा माना जा रहा है कि केंद्रीय मंत्रिमंडल में चिराग का टिकट कंफर्म हो चुका है। हालांकि चिराग पासवान के चाचा पशुपति कुमार पारस मोदी मंत्रिमंडल में बने रहेंगे या नहीं इसका फैसला तो 25 जनवरी के बाद होगा लेकिन ऐसी खबरें आ रही है कि मोदी मंत्रिमंडल में चिराग पासवान को स्थान मिलने की प्रबल संभावनाएं बन रही है। बिहार में नीतीश कुमार के एनडीए से अलग होने के बाद किन चेहरों को शामिल करने से बीजेपी को लोकसभा चुनाव के अंदर फायदा मिलेगा, इस बात को लेकर पीएम मोदी मंथन कर चुके होंगे। फिलहाल केंद्रीय कैबिनेट में शामिल मंत्रियों की बेचैनी बढ़ी हुई है और हर कोई पीएम मोदी के फैसले का इंतजार कर रहा है। बिहार से आने वाले सहयोगी दल का चेहरा केंद्रीय कैबिनेट में कौन होगा इसको लेकर भी कयास लगाए जा रहे हैं।

About Post Author

You may have missed