February 5, 2023

बिहार में जातीय जनगणना से लालू का सपना हुआ पूरा, डाटा को ध्यान में रखकर तैयार होगा इस बार का बजट : तेजस्वी यादव

  • आज से शुरू हो रही जातीय जनगणना पढ़ बोले डिप्टी सीएम, कहा- हमारे पिता सदा इसके पक्ष में रहे, आज वे बहुत खुश हैं

पटना। बिहार में जाति आधारित गणना आज से शुरू होने जा रही है। यह गणना दो चरणों में होने जा रही है।राज्य में नीतीश कुमार की सरकार पहले चरण में मकान की गिनती करेगी और उसमें नंबरिंग। इसके बाद अगले चरण में जाति, पेशा और अन्य तरह की जानकारी इकट्ठा की जाएगी। इस गणना का पहला चरण 7 जनवरी से शुरू होकर 21 जनवरी तक चलेगा। इसके बाद अप्रैल के महीने में इस गणना का दूसरा चरण शुरू होगा। वहीं, अब इस गणना को लेकर बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने अपनी प्रतिक्रिया दर्ज कराते हुए भाजपा पर गहरा तंज कसा है। तेजस्वी यादव ने कहा कि, जातीय गणना की शुरुआत आज से होने जा रही है। यह बहुत ही ऐतिहासिक काम है। इसका निर्णय बहुत पहले ही सीएम नीतीश कुमार द्वारा केंद्र की मनाही के बाद कर लिया गया था। अब आज से इसकी शुरआत होने जा रही है इससे अधिक ख़ुशी की बात मेरे लिए कुछ भी नहीं हो सकती। हमारे पिता लालू यादव की भी यही चाहत थी और आज यह जानकर वह भी बहुत खुश हैं। तेजस्वी यादव ने कहा कि, हमारी पार्टी राजद का लालू यादव के नतृत्व शुरू से यही मांग थी की जाती आधारित गणना हो, इसको लेकर हमलोग सड़क पर भी आंदोलन कर चुके हैं। लालू यादव के रहते हुए मनमोहन सिंह की सरकार ने यह करवाया भी था उसमें सारी चीज़ें थी। हालांकि, बाद में भाजपा के लोगों ने इस डाटा को क्राप्ट बता दिया। उसके बाद जब मैं नेता विरोधी दल था तभी भी इसको लेकर अपनी मांग सबके सामने रखता रहा। लेकिन, भाजपा जेडीयू विरोधी पार्टी है इसलिए उसने इसको लेकर मनाही कर दी। बिहार में शुरू हो रही इस जाती आधारति गणना में एक- एक चीज़ की जानकारी इकठा की जाएगी। इसमें न सिर्फ जाती बल्कि उस जाती के लोगों की आर्थिक स्थिति की भी गणना की जाएगी। इससे राज्य सरकार के पास सही डाटा होगा, जिससे लोगों की मदद करने में आसानी होगी। इसी हिसाब से बजट का स्वरूप भी बढ़ेगा। उसी हिसाब से योजना भी संचालित होगा।

About Post Author

You may have missed