बांका में फर्जी जेल अधीक्षक बनकर ठगी करने वाला अपराधी पटना से गिरफ्तार, गुप्त सूचना पर पुलिस ने दबोचा

पटना। बिहार के बांका में जेल अधीक्षक बनकर ठगी करने वाले आरोपी को पुलिस ने पटना से सोमवार को गिरफ्तार कर लिया गया। मौके से मोबाइल, सिम कार्ड, एटीएम कार्ड सहित अन्य कागजात बरामद किया गया है। इस पूरे मामले की जानकारी एसडीपीओ विपिन बिहारी ने प्रेसवार्ता कर दी। एसडीपीओ विपिन बिहारी ने मामले का उद्वेदन कर बताया कि एक अज्ञात व्यक्ति द्वारा जेल अधीक्षक बनकर लोगों को फोन कर नौकरी लगने के नाम पर पैसे की मांग की जाती थी। इस मामले में टेक्निकल टीम एवं पुलिस टीम ने छापेमारी कर पटना से उक्त आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने 24 जनवरी 2024 को करमंडल के अध्यक्ष सुजीत कुमार राय द्वारा लिखित आवेदन पर कांड दर्ज किया था। इसमें अध्यक्ष मंडल कारा बांका के पद नाम से फर्जी अज्ञात व्यक्ति द्वारा आम जनता को फोन कर नौकरी लगाने के लिए पैसे की मांग की जा रही थी। जिसके बाद पुलिस ने कार्रवाई की। एसडीपीओ ने बताया कि युवाओं को नौकरी लगाने के नाम पर रजिस्ट्रेशन कराने हेतु पैसा जमा भी किया जा रहा था। इसमें तीन मोबाइल नंबर का प्रयोग किया गया था। इसके बाद अनुसंधान के क्रम में टेक्निकल टीम बांका एवं पुलिस टीम के द्वारा गुप्त सूचना पर छापेमारी कर पटना के परसा थाना क्षेत्र के कुरर्थोल गांव निवासी उमेश्वर प्रसाद सिंह को गिरफ्तार कर लिया गया। मौके से मोबाइल, सिम कार्ड, एटीएम कार्ड सहित अन्य कागजात भी बरामद किया गया है। इस मामले में पुलिस आगे की कानूनी कार्रवाई कर रही है।

About Post Author

You may have missed