December 6, 2022

14 साल से लापता अधेड़ के शव को चिता से उठा पुलिस भेजी पोस्टमार्टम को

पटना सिटी (आनंद केसरी)। गौरव के पिता पिछले 14 वर्षों से लापता थे। बेटा मां और बहन के साथ खगौल के नट्टू टोला मर रहता है। उसे फूफा ने सूचना दिया कि पिताजी आपके घर आये हैं। जब वह आया तो पता चला कि उनका श्राद्ध कर्म करने को गुलबी घाट ले जाया गया है। सुल्तानगंज थाना की पुलिस को सूचना देने पर पुलिस घाट पर पहुंच चिता से लाश को उठवा कर पोस्टमार्टम को भेजा है।
गायब होने, मिलना और मौत से स्तब्ध
बेटा गौरव ने बताया कि पिता सोहराई महतो (50) करीब 14 साल से लापता थे। मूल रूप से आलमगंज थाना के तुलसी मंडी का रहने वाला गौरव अभी खगौल में मां किरण देवी और बहन बरखा के साथ रह रहा है।
कल मिली पिता के आने की सूचना
बेटे ने कहा कि तुलसी मंडी मकान में फूफा अनिल कुमार रह रहे हैं। उन्होंने गुरुवार को कॉल कर बताया कि तुम्हारे पिताजी आए हुए हैं। जब वह शुक्रवार को उनसे मिलने पहुंचा, तो बताया गया कि उनकी मौत हो चुकी है और दाह-संस्कार को गुलबी घाट ले जाया गया है। इससे उन सबों का माथा ठनका कि पहले 14 साल से गायब हुए। अचानक उनका घर आना होता है और तुरत ही उनकी मौत हो जाती है। यह सब उन सबों को स्तब्ध कर गया।
पुलिस की ली मदद
सभी सुल्तानगंज थाना पहुंचे और थानेदार डीसी श्रीवास्तव से शिकायत कर मदद मांगी। पुलिस तुरत गुलबी घाट पहुंच कर चिता पर संस्कार को रखे शव को उठवाया। इसके बाद शव को पोस्टमार्टम को भेज दिया। पुलिस गौरव के फूफा अनिल को पूछताछ के लिए रोक रखी है। अनिल का कहना है कि उनके साला सोहराई की मां पहाड़ी पर तीन दिन पूर्व मिली थी।

About Post Author

You may have missed