December 8, 2022

पालीगंज में डाकघर अभिकर्ता हत्याकांड का खुलासा, तीन अपराधी गिरफ्तार

पालीगंज। 31 अगस्त की रात पालीगंज में डाकघर अभिकर्ता की गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी। जिसकी खुलासा पालीगंज पुलिस ने बुधवार को हत्या में संलिप्त तीन अपराधियों को एक देशी कट्टा व एक जिंदा कारतूस के साथ गिरफ्तारी के साथ कर दिया। जिसकी जानकारी पटना एसएसपी मनु महाराज ने पालीगंज थाना परिसर में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस के द्वारा दिया। वहीं गिरफ्तार अपराधियों को देखने के लिए पालीगंज थाना परिसर में ग्रामीणों की भीड़ उमड़ पड़ी। प्रेस कांफ्रेंस के दौरान पटना एसएसपी मनु महाराज ने बताया कि 31 अगस्त की रात पालीगंज थाने के डीहपाली गांव में बाजार से लौटते समय डाकघर अभिकर्ता राकेश कुमार उर्फ रौशन कुमार को अज्ञात अपराधियो ने गोली मारकर हत्या कर दिया था। वही हत्या की प्राथमिकी परिजनों ने पालीगंज थाने में अज्ञात अपराधियो के खिलाफ  कराई थी। जिसको लेकर पटना पश्चिमी के सिटी एसपी रविंद्र कुमार व पालीगंज डीएसपी मनोज पांडेय के नेतृत्व में एक पुलिस टीम की गठन की गई थी। तभी से पुलिस मामले की तहकीकात कर रही थी। हत्या के दौरान घटनास्थल से बरामद अपराधियो की बाइक की जांच किया गया। वह बाइक पटना चौक थाना निवासी मुन्ना प्रसाद की थी जो 31 सितंबर को ही जहानाबाद नगर थाना क्षेत्र से चोरी कर ली गयी थी। वही बाइक चोरी होने की प्राथमिकी थाने में दर्ज कराई गई थी। लेकिन पुलिस जांच के दौरान सन्देहात्मक परिस्थिति में जहानाबाद जिले के मखदुमपुर थाना क्षेत्र के मिश्रीपुर गांव निवासी धनेश यादव के पुत्र रंजीत कुमार को गिरफ्तार कर पूछ ताछ करने लगी। जिन्होंने हत्या के दौरान गोली मारने की बात स्वीकार कर लिया। साथ ही उन्होंने अपने साथ तीन अन्य साथियों को होने की बात स्वीकारी। जबकि रंजीत कुमार के निशानदेही पर पुलिस एक देशी कट्टा व एक जिंदा कारतुस के अलावे मृतक राकेश कुमार की बैग व पर्स सहित कुछ कागजात भी बरामद कर लिया। वही गिरफ्तार अपराधी रंजीत कुमार के बताए अनुसार तीन अन्य अपराधियों में से जहानाबाद जिला के शकुराबाद थाना स्थित खजुरबन्ना गांव निवासी मदन यादव के पुत्र समन कुमार व अरवल जिले के किंजर थाना स्थित टेकारी गांव निवासी जयनन्दन सिंह का पुत्र विजय कुमार को पुलिस ने छापेमारी कर गिरफ्तार कर लिया। वही एक अन्य अपराधी अभी पुलिस गिरफ्त से बाहर है। उसे भी पुलिस जल्द गिरफ्तार कर लेगी।
एसएसपी ने बताया कि गिरफ्तार विजय कुमार का अपराधी रिकॉर्ड नहीं है पर वह डीहपाली अपने रिश्तेदार के घर रहता था व डाकघर अभिकर्ता राकेश कुमार उर्फ रौशन कुमार की रेकी करता था। वहीं शूटर रंजीत कुमार पहले भी हत्या के मामले में जेल जा चुका है। वहीं उन्होंने बताया कि अपराधियों को स्पीडी ट्रायल के तहत कड़ी से कड़ी सजा दिलाई जाएगी। मौके पर गिरफ्तार अपराधियों को देखने के लिए पालीगंज थाने में ग्रामीणों की भीड़ उमड़ पड़ी। जबकि सूचना पाकर थाना पहुंची मृतक राकेश कुमार की पत्नी पूनम देवी ने मृतक को कड़ी से कड़ी सजा दिलाने की गुहार एसएसपी से लगा रही थी। वहीं मंच के माध्यम से पालीगंज डीएसपी मनोज पांडेय ने ग्रामीणों को घटना से सम्बंधित जानकारी दिए। उन्होंने बताया कि पुलिस जनता के साथ है व पुलिस हर सम्भव जनता को मदद कर अमन व शांति प्रदान करेगी। वहीं अपराधी पुलिस की नजरों से नहीं बच पाएगी।

About Post Author

You may have missed