December 10, 2022

महिलाओं की रक्षा से सत्ता और प्रतिपक्ष को कोई लेना-देना नहीं

नारी बचाओ पदयात्रा को मिल रहा महिलाओं का भारी समर्थन : पप्पू यादव
पदयात्रा के दूसरे दिन दरभंगा पहुंचे सांसद पप्पू यादव

पटना/मधुबनी। नारी सम्मान पदयात्रा जन अधिकार पार्टी (लो) का मधुबनी के बासोपट्टी से चल पड़ा है, जो 13 सितंबर को पटना में शहीद स्मारक पर समाप्त होगा। पदयात्रा को बूढ़े, जवान, स्कूली छात्रों का भी जबदस्त समर्थन मिल रहा है। महिलाओं का आशीर्वाद भी खूब मिल रहा है। हम अब महिलाओं पर हमला बर्दाश्त नहीं करेंगे। उक्त बातें पार्टी के राष्ट्रीय संरक्षक सह सांसद पप्पू यादव ने नारी बचाओ पदयात्रा के दौरान मधुबनी के आईबी में संवाददाता सम्मेलन के दौरान कही। उन्होंने कहा कि शेल्टर होम में लड़कियों से हुए दुष्कर्म के मुद्दे पर सत्ता और प्रतिपक्ष दोनों चुप हैं। उनकी चुप्पी बताती है कि महिलाओं की रक्षा से उन्हें कोई लेना-देना नहीं है। दोनों पक्ष के लोग ब्रजेश ठाकुर, मनीषा दयाल, मधु, एमएस राजू और सुनील कुमार को बचाने में लगे हैं। अभी तक पूर्व मंत्री के पति की गिरफ्तारी क्यों नहीं हो सकी? शेल्टर होम से गायब लड़कियां कहां हैं और गवाह कहां हैं? इन सवालों को दरकिनार कर सभी दल 2019 के चुनाव की तैयारी में जुट गये हैं।

सांसद ने कहा कि महिलाओं के सम्मान में निकले इस कारवां में न दल का बंधन है, न जाति का। इसमें शामिल हर व्यक्ति नारी सम्मान के लिए संकल्पित है। नारी सम्मान पदयात्रा का कारवां लंबा होता जा रहा है तो संकल्प भी मजबूत होता दिख रहा है। उन्होंने कहा कि पार्टी नारी सम्मान और मां-बहनों की अस्मिता की रक्षा के लिए प्रतिबद्ध है। इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए जन-जागरूकता अभियान के तहत नारी बचाओ पदयात्रा का आयोजन किया गया है।
उन्होंने कहा कि बिहार में आम आदमी का जीवन दूभर हो गया है। यहां कोई सुरक्षित नहीं रह गया है। न महिला, न पुरुष। अब तो सांसद भी सुरक्षित नहीं रह गये हैं। अपराधियों का मन इतना बढ़ गया है कि सांसद के काफिले पर हमला कर दे रहे हैं। हत्या, बलात्कार, अपहरण की घटनाएं आम हो गयी हैं। सामूहिक बलात्कार की घटनाओं में इजाफा हो रहा है। ऐसी घटनाओं का वीडियो वायरल किया जा रहा है। इस मानसिकता के लिए कौन जिम्मेवार है। ऐसी घटनाओं के लिए प्रशासनिक विफलता भी जिम्मेवार है।

About Post Author

You may have missed