NDA की राष्ट्रपति उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू आज करेगी नामांकन, बिहार से ललन सिंह समेत कई बनेगें प्रस्तावक

नई दिल्ली। झारखंड की पूर्व राज्यपाल और राष्ट्रपति पद की एनडीए की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू आज नामांकन करेंगी। नामांकन करने से पहले उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू से मुलाकात की। ओड़िशा की सत्तारूढ़ पार्टी बीजू जनता दल (बीजद) और बिहार के जदयू के समर्थन के बाद द्रौपदी मुर्मू का 16वां राष्ट्रपति चुना जाना तय माना जा रहा है। भाजपा के अध्यक्ष जेपी नड्डा ने बृहस्पतिवार को ओड़िशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक से फोन पर बात की और उनसे राष्ट्रपति चुनाव में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू द्वारा नामांकन पत्र दाखिल किए जाने के दौरान उपस्थित रहने का आग्रह किया। चूंकि पटनायक इटली के दौरे पर हैं, इसलिए उन्होंने अनुपलब्धता के लिए खेद जताते हुए अपने मंत्रिमंडल के दो सहयोगियों, जगन्नाथ सारका और टुकुनी साहू को द्रौपदी मुर्मू के नामांकन पत्र पर हस्ताक्षर करने और नामांकन के दौरान मौजूद रहने को कहा है। वही जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह राष्ट्रपति पद की एनडीए उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू के नामांकन में उपस्थित रहेंगे। शुक्रवार को दिल्ली में द्रौपदी मुर्मू का नामांकन होना है। ललन सिंह गुरुवार की देर शाम दिल्ली पहुंचे। नामांकन में जदयू के पांच सांसद प्रस्तावक भी बने हैं। इनमें ललन सिंह के अलावा, सुनील कुमार पिंटू, चंदेश्वर प्रसाद चंद्रवंशी, आलोक कुमार सुमन और दिलेश्वर कामत शामिल हैं। वहीं रालोजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता श्रवण कुमार अग्रवाल ने बताया कि नामांकन के दौरान पशुपति पारस सहित पार्टी के सभी सांसद मौजूद रहेंगे।
रालोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष और केंद्रीय मंत्री पशुपति कुमार पारस भी बनेगें प्रस्तावक
इधर, रालोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष केंद्रीय खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्री पशुपति कुमार पारस, सांसद प्रिंस राज, चौधरी महबूब अली कैसर, चंदन सिंह एनडीए द्वारा घोषित राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू के नामांकन में प्रस्तावक बने हैं। नई दिल्ली में गुरुवार को इस संबंध में सभी सांसदों ने प्रस्तावक के रूप में हस्ताक्षर किया। शुक्रवार को राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू नामांकन पत्र दाखिल करेंगी।

You may have missed