December 6, 2022

जदयू विधायक ने राजद को बोल दिया अंट-शंट, राजनीति गर्म होना तय

पटना। भारत बंद के दौरान आज जिस तरह से राजद के कार्यकर्ताओं ने अपने पुराने दिनों को याद कराया, उससे बिहार की जनता एक बार फिर सहम उठी। बंद के नाम पर सड़कों पर राजनीतिक कार्यकर्ताओं के भेष में राजद के गुंडे और मवाली जबरन लोगों की दुकान बंद करा रहे थे और गाड़ियों में तोड़फोड़ मचा रहे थे। यह सब उस पुराने दिनों को याद करा दिया जब राजद इसी संस्कृति के बल पर बिहार में 15 सालों तक शासन किया था। उक्त बातें युवा जदयू के प्रदेश अध्यक्ष सह विधायक अभय कुशवाहा ने कहा। उन्होंने कहा कि बिहार की राजनीति में राजद और कांग्रेस मिलकर यहां के शासन तंत्र को किसी न किसी बहाने अस्थिर करने की साजिश में लगे हुए हैं। केंद्र सरकार के खिलाफ पेट्रोलियम पदार्थों के मूल्य वृद्धि के खिलाफ कांग्रेस द्वारा बुलाये गए भारत बंद में राजद अपना समर्थन देकर जहां कांग्रेस के नेतृत्व को स्वीकार कर लिया और अपने आप को समर्पित कर दिया उससे उसके राजनीतिक भविष्य पर भी प्रश्न चिन्ह खड़े हो गए। राजद ने कांग्रेस के बंद को अपना बंद सिद्ध करने के लिए सारी हदें पार कर दी। कुल मिलाकर यह बंद पूरी तरीके से विफल रहा। बंद के नाम पर गुंडागर्दी से लोग सहमे और घर तक सीमित रह गए। इस तरीके का बंद बुलाकर राजनीतिक रोटी सेंकने की कोशिश की गई।

भारत बंद पूरी तरह असफल रहा: युवा जदयू

युवा जदयूू के प्रदेश उपाध्यक्ष सह मीडिया प्रभारी ओम प्रकाश सिंह सेतु ने कहा कि विपक्ष का भारत बंद पूरी तरह असफल रहा। जिस तरह से महागठबंधन के लोगों ने पटना कि सड़कों पर नंगा नाच किया, इससे साफ जाहिर हो रहा है कि पुन: जंगलराज की ओर बिहार को ले जा रहे हैं और इनकी मानसिकता यही है। जंगलराज वालों का चरित्र आज भी नहीं बदला है। 15 साल की पुरानी यादें आज फिर जिंदा हो गया और पुन: वही डर सताने लगा जिसे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपने शासन काल में मिटाया था।

About Post Author

You may have missed