December 5, 2022

बेगूसराय में हॉरर किलिंग से हडकंप; दिवाली की रात प्रेमी की हुई हत्या, आक्रोशित लोगों का सड़क जाम

बेगूसराय। बिहार के बेगूसराय में हॉरर किलिंग की वारदात से सनसनी फैल गई है। दिवाली की रात प्रेमी जोड़े की हत्या कर उनका शव रेलवे ट्रैक पर फेंक दिया गया। पुलिस को गुमराह करने के लिए इसे आत्महत्या का रूप देने की कोशिश की गई। यह वारदात लाखो ओपी थाना इलाके की है। हत्या के आरोप मृतक लड़की के घर वालों पर लगे हैं। आक्रोशित लोगों ने नेशनल हाईवे 31 जाम कर दिया। मृतक लड़की नाबालिग थी, उसकी पहचान रूपम कुमार के रूप में हुई। उसकी मां नविता देवी सरपंच रह चुकी है। वहीं मृतक युवक लाखो पंचायत के ही राजा डुमरी निवासी नुनुबाबू पासवान था। वह पहले से शादीशुदा था और उसका रूपम के साथ प्रेम प्रसंग चल रहा था। नुनुबाबू रूपम के पिता के यहीं काम करता था। सोमवार रात दोनों की हत्या कर दी गई। जीआरपी पुलिस की सूचना पर लाखो ओपी के गुप्ता बांध के समीप रेलवे ट्रैक पहुंचे लाखो ओपी थाना अध्यक्ष प्रमोद कुमार पासवान ने दोनों शवों को अपने कब्जे में ले लिया। शव मिलते ही परिजन में कोहराम मच गया। पुलिस पोस्टमार्टम के लिए जा रही थी कि स्थानीय लोग एनच -31 जाम कर विरोध प्रदर्शन करने लगे। रोते बिलखते मृतक की पत्नी ने बताया कि करेलाल का बेटा नुनुबाबू को ट्रैक्टर भाड़ा पर ले चलने कि बात कहकर उसे 10 बजे रात में ले गया।

सुबह में जानकारी मिली कि नुनुबाबू की करेलाल की बेटी के साथ रेल टैक्स पर लाश मिली है। मृतक के पिता ने बताया करेलाल ने शिकायत की थी कि तुम्हारा बेटा हमारी बेटी को लेकर भाग गया है, उसे खोजना है। गाड़ी में बैठकर वे लोग सफापुर अपने रिश्तेदार के घर गए, लेकिन वहां कोई नहीं मिला। उसके बाद वापस घर आ गए। सुबह में जानकारी मिली कि उसके बेटे की लाश लड़की के साथ रेल ट्रैक पर मिली। बताया जा रहा है कि मृतक नुनुबाबू करेलाल के यहां तीन साल से ट्रैक्टर चलाता था। वहीं पर करेलाल की बेटी और नुनुबाबू के बीच प्रेम संबंध हुआ। फिर दोनों की हत्या कर दी गई। ओपी अध्यक्ष प्रमोद पासवान ने बताया कि दोनों के बीच प्रेम प्रसंग चल रहा था। प्रेम प्रसंग में ही हत्या की गयी है। मामले कि जांच की जा रही है। लड़की के माता और पिता को हिरासत में लिया गया है।

About Post Author

You may have missed