बिहार में अगले 24 घंटे में होगी भारी बारिश, कई जिलों में ऑरेंज तो कई जिलों में येलो अलर्ट जारी

पटना। बिहार में मानसून पूरी तरह से सक्रिय हो चुका है, जिससे राज्य के लगभग सभी जिलों में बारिश हो रही है। उत्तर बिहार में भारी बारिश के कारण बाढ़ जैसे हालात बन गए हैं, जबकि दक्षिण बिहार में पटना समेत कई जिलों में लगातार रुक-रुक कर बारिश हो रही है। मौसम विभाग ने अगले 24 से 36 घंटों के लिए भारी बारिश का पूर्वानुमान जारी किया है। मौसम विभाग की रिपोर्ट के अनुसार, मानसून के आगमन और बारिश से तापमान में गिरावट आई है, जिससे भीषण गर्मी से राहत मिली है। मानसून के सक्रिय होने के कारण राज्य में अच्छी बारिश हो रही है। शुक्रवार को भी बारिश के आसार हैं। मौसम विभाग ने राज्य के कई जिलों के लिए भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। मौसम विभाग ने सारण, खगड़िया, जमुई, सीवान, मुजफ्फरपुर, किशनगंज, कटिहार, पूर्णिया, पश्चिम चंपारण, पूर्वी चंपारण, और सीतामढ़ी में भारी से भारी बारिश का ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। वहीं शिवहर, मधुबनी, मुजफ्फरपुर, वैशाली, समस्तीपुर, और सुपौल के लिए येलो अलर्ट जारी किया गया है। इसके अलावा वैशाली, बांका, मुंगेर, पटना, भोजपुर, रोहतास, औरंगाबाद, नवादा, गया, पूर्णिया, किशनगंज, समस्तीपुर, नालंदा, और दरभंगा समेत अन्य हिस्सों में रुक-रुक कर बारिश हो सकती है। दक्षिण-पश्चिम और दक्षिण-मध्य के कुछ स्थानों पर गरज के साथ बारिश की संभावना है। बारिश के कारण अधिकतम तापमान में गिरावट आई है। पटना समेत राज्य के कुछ जिलों में तापमान में गिरावट दर्ज की गई है। इस महीने की शुरुआत से ही लगातार हो रही बारिश से किसानों को बड़ी राहत मिली है। धान के बीज खेतों में बोए जा रहे हैं और कृषि कार्य में तेजी आ गई है। मौसम विभाग की चेतावनी के बाद प्रशासन ने भी सतर्कता बरतने के निर्देश जारी किए हैं। लोगों को बारिश के दौरान घरों में रहने की सलाह दी गई है और बाढ़ संभावित इलाकों में विशेष सतर्कता बरती जा रही है। ग्रामीण इलाकों में नदियों के किनारे बसे लोगों को अलर्ट रहने को कहा गया है। इस बारिश के कारण जहां एक ओर बाढ़ जैसी स्थिति उत्पन्न हो सकती है, वहीं दूसरी ओर किसानों के लिए यह वरदान साबित हो रही है। अच्छी बारिश के कारण फसलों को पर्याप्त पानी मिल रहा है और कृषि कार्य में तेजी आ रही है। मानसून के इस मौसम में सावधानी बरतना आवश्यक है ताकि किसी भी अप्रिय घटना से बचा जा सके।

About Post Author

You may have missed