December 6, 2022

शक्तिपीठ और पूजा स्थलों पर सीएम ने लिया आशीष -पटना घाट-पटना साहिब रेलखंड का लिया जायजा, बनेगा 4लेन रोड

पटना सिटी (आनंद केसरी)। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार नवरात्र पर बुधवार को पुराना पटना यानी सिटी के धार्मिक स्थल पर पूजा-अर्चना करने पहंचे। उनके साथ पथ निर्माण मंत्री नन्दकिशोर यादव भी थे। सबसे पहले सीएम अगमकुआं स्थित श्री शीतला माता मंदिर पहुंचे। यहां पूजा-अर्चना कर नारियल चढ़ाया और आरती की। यहां एमएलसी ललन सराफ के साथ शशिकांत गुप्ता, राजीव रंजन आदि स्वागत करने वालों में थे। यहां से वे श्री बड़ी पटनदेवी मंदिर पहुंच पूजा कर नारियल चढ़ाया। महंत विजय शंकर गिरी ने सीएम नीतीश और मंत्री नंदकिशोर को माता की चुनरी और प्रसाद आशीष रूप में दिया। इसके बाद सीएम का काफिला छोटी पटनदेवी को निकला। रास्ते में मारवाड़ी युवा मंच सिटी शाखा के अध्यक्ष पंकज लोयलका, कमल नोपनी, ईश्वर अग्रवाल, विजय गुप्ता, गोविंद कानोडिया, संजीव देवड़ा, अशोक बूबना, विष्णु झुनझुनवाला आदि ने नीतीश और नंदकिशोर का स्वागत किया। छोटी पटनदेवी में आचार्य अभिषेक अनंत द्विवेदी, विवेक द्विवेदी ने पूजा और आरती करा चुनरी-प्रसाद सौंपा। राजा चौधरी, अनंत अरोड़ा आदि ने स्वागत किया। फिर मारूफगंज श्री बड़ी देवी जी और दलहट्टा बड़ी देवी जी में पूजा कर प्रदेश-देश के लोगों के विकास और सेवा करने की शक्ति भगवती से मांगी। यहां समिति के अनिल कुमार, संत गोलवारा, भगवान यादव, प्रेमचंद जायसवाल, अतानु साहा, पार्षद मुन्ना जायसवाल, विनोद कुमार और दलहट्टा में द्वारिका कश्यप, रामचंद्र केसरी, कांति केसरी आदि ने स्वागत किया।
रेलखंड का किया मुआयना
इसके बाद सीएम नीतीश कुमार और मंत्री नंदकिशोर यादव पटना घाट पहुंचे। यह रेल टिकट काउंटर, प्लेटफॉर्म, खड़ी ट्रेन की बोगी के साथ नक्शा को देखा। डीएम कुमार रवि और डीआरएम रंजन प्रकाश ठाकुर ने बताया कि करीब 2 किमी रेलखंड है। गंगा किनारे बनने वाले रोड को 4लेन रोड बनाकर इसे एनएच 30 से जोड़ा जाएगा। इस पर अनेक जानकारी सीरम ने मौजूद रेल अधिकारियों, डीएम और पथ निर्माण के अभियंता से ली। इसके बाद सीएम का काफिला लौट गया। डीआरएम ने बताया कि पटना घाट स्टेशन का फिलहाल कोई यूज नहीं था, इस कारण से इसे बिहार सरकार को जमीन सौंपी जा रही है। गंगा किनारे रोड बनने और इसे फोरलेन बनने पर बड़ी आबादी को ट्रेफिक जाम से राहत मिलेगा।

About Post Author

You may have missed