November 26, 2022

सीएम नीतीश ने पटना के छठ घाटों का सड़क मार्ग से किया निरक्षण, पत्रकारों को दिखाई अपनी चोट

पटना। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज छठ घाट का निरीक्षण स्टीमर की बजाय गाड़ी में बैठकर किया। बाद में पत्रकारों को बताया कि पिछले सप्ताह छठ घाट के निरीक्षण के दौरान स्टीमर जेपी सेतु के पाया से टकरा गया था। इससे चोट लग गई है, जो अब तक पूरी तरह ठीक नहीं हुई है। इस दौरान नीतीश कुमार पत्रकारों को अपनी चोट भी दिखा रहे थे। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का स्टीमर 15 अक्टूबर को गंगा नदी में जेपी सेतु से टकरा गया था। हालांकि, तब बताया जा रहा था कि सीएम को इस दौरान कोई चोट नहीं आयी, वो सकुशल हैं। सीएम नीतीश कुमार छठ घाटों का निरीक्षण करने पटना में गंगा नदी में स्टीमर से गए थे। इसी दौरान जेपी सेतु को पार करने के दौरान नदी का जलस्तर ज्यादा होने और बहाव तेज होने की वजह से उनका स्टीमर आंशिक रूप से पुल के पाये से टकरा गया। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ स्टीमर पर जल संसाधन मंत्री संजय झा सहित कई अन्य आलाधिकारी भी मौजूद थे।
15 अक्‍टूबर को भी हुआ हादसा
दरअसल, बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार गत 15 अक्‍टूबर को पटना के गंगा घाटों का जायजा लेने के लिए निकले थे। वह स्‍टीमर पर सवार होकर छठ पूजा के लिए इंतजामों का जायजा ले रहे थे। इसी बीच उनके साथ हादसा हो गया। इसी हादसे में मुख्‍यमंत्री को काफी चोट लगी थी। हालांकि तब अफसरों ने सीएम को कोई चोट लगने की बात से पूरी तरह इंकार कर दिया था। वही, बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने खुद भी इस हादसे को लेकर आश्‍चर्य जताया। उन्‍होंने अपने कार्यकाल की याद दिलाते हुए कहा कि वर्ष 2006 से ही लगातार छठ घाटों का निरीक्षण करते आ रहे हैं, लेकिन ऐसा कभी नहीं हुआ। 15 अक्‍टूबर को हुए हादसे के बाद दो-तीन दिनों तक मुख्‍यमंत्री को पूरा आराम करना पड़ा था।

About Post Author

You may have missed