December 10, 2022

प्रशांत किशोर के फंडिंग के बयान पर बीजेपी का हमला, संजय जायसवाल बोले- पीके के सबसे बड़े फंड देने वाले है सीएम नीतीश

पटना। प्रशांत किशोर के फंडिंग वाले बयान के बाद बिहार राजनीति में वार पलटवार का सिलसिला फिर शुरू हो गया है। भाजपा ने पीके के बयान पर निशाना साधते हुए बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को भी घेर लिया है। बिहार भाजपा अध्यक्ष संजय जायसवाल ने ट्विटर पर जारी किए गए वीडियो में कहा है कि प्रशांत किशोर ने जिन 6 राज्यों के मुख्यमंत्रियों का जिक्र किया है उसमें बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी शामिल हैं क्योंकि नीतीश कुमार ने कई चुनावों में प्रशांत किशोर की मदद ली है। संजय जायसवाल ने कहा कि अब कोई बात छिपी नहीं है कि नीतीश कुमार प्रशांत किशोर के सबसे बड़े फंडर हैं। उन्होंने कहा कि इससे ये भी साफ हो गया है कि पीके किसके लिए काम कर रहे हैं और उससे किसका फायदा है। भाजपा ने प्रशांत किशोर पर पहले भी नीतीश कुमार के लिए काम करने का आरोप लगाया था लेकिन फंडिंग के बयान के बाद भाजपा पीके और नीतीश कुमार का घेराव कर रही है। संजय जायसवाल ने कहा कि बिहार में महागठबंधन की स्थिति खराब होती जा रही है। ऐसे में प्रशांत किशोर केवल मोहरा बनकर लोगों तक पहुंच रहे हैं और इससे फायदा नीतीश कुमार को होगा। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि बीते कुछ सालों से नीतीश कुमार के शासन से लोग ऊब चुके हैं और अब भाजपा की लहर चल पड़ी है। ऐसे में प्रशांत किशोर और नीतीश कुमार की मिलीभगत भाजपा के वोट काटने की है लेकिन जनता सब समझ रही है।

संजय जायसवाल ने कहा कि पीके ने 6 मुख्यमंत्रियों के द्वारा फंडिंग की बात कही है। नीतीश कुमार प्रशांत किशोर के सबसे बड़े फंडर हैं और लोगों को गुमराह कर दोनों वोट काटने की कोशिश कर रहे हैं लेकिन उनके मनसूबे कामयाब नहीं होंगे। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि प्रशांत किशोर ने आखिर स्वीकार ही लिया कि महागठबंधन के खिलाफ वोटों के बंटवारे के लिए नीतीश कुमार पैसे दे रहे हैं। उन्होंने खुद ही कहा है कि जिन नेताओं के लिए उन्होंने कभी काम किया था और आज वह मुख्यमंत्री हैं, वह सब इनको पैसे देकर इस कार्यक्रम को आगे बढ़ा रहे हैं। बता दे की बुधवार को जन संवाद करते समय पीके ने फंडिंग के आरोपों पर पलटवार करते हुए कहा था कि देश के 6 राज्यों के मुख्यमंत्री जनसुराज अभियान की मदद कर रहे हैं। पीके ने कहा था कि पिछले दस साल से जिनके लिए काम किया है अब उनसे फीस ले रहे हैं और अभियान को आगे बढ़ा रहे हैं। पीके के बयान के बाद से भाजपा ने प्रशांत किशोर और नीतीश कुमार पर हमला तेज कर दिया है।

About Post Author

You may have missed