December 6, 2022

पश्चिम बंगाल में भी इस बार छठ महापर्व की धूम, कोलकाता में 29 छठ घाटों को तैयार कर रहा नगर निगम

कोलकाता। पश्चिम बंगाल में कालीपूजा और दीपावली के समाप्त होते ही कोलकाता नगर निगम (केएमसी) अब छठ पूजा की तैयारियों में जुट गया है। छठ पूजा के दौरान कोलकाता में मिनी बिहार जैसा नजारा दिखता है। इस वर्ष भी रवींद्र सरोवर और सुभाष सरोवर में छठ करने पर रोक है, इसलिए कलकत्ता मेट्रोपॉलिटन डेवलपमेंट अथॉरिटी (केएमडीए) और केएमसी की ओर से महानगर में स्थायी और अस्थायी छठ घाट तैयार किये गये हैं। इस बार छठ पूजा के लिए कुल 89 घाट तैयार किये गये हैं। इनमें निगम के 42 और केएमडीएम के 47 घाट शामिल हैं। इनमें गंगा घाट भी शामिल हैं। गंगा घाटों को गुरुवार से छठ पूजा के लिए तैयार किया जायेगा, क्योंकि काली पूजा के लिए प्रतिमाओं का विसर्जन बुधवार तक होगा। कालीपूजा के विसर्जन के बाद गंगा घाटों की सफाई शुरू की जायेगी। वहीं, शुक्रवार या शनिवार को कोलकाता के मेयर फिरहाद हकीम गंगा घाटों का निरीक्षण करने जा सकते हैं।गौरतलब है कि दीपावली, काली पूजा और भैया दूज के लिए गुरुवार तक सरकारी छुट्टी है। ऐसे में निगम के खुलने के बाद ही मेयर घाटों का निरीक्षण करेंगे। इधर, सरकारी छुट्टी के दौरान ही निगम के ठोस कचरा प्रबंधन विभाग को युद्धस्तर पर सभी गंगा घाटों की सफाई करने का निर्देश दिया गया है।
घाटों पर होगी ये सुविधाएं
निगम और केएमडीए के सभी छठ घाटों पर लाइटिंग, पेयजल, शौचालय, कपड़े बदलने के लिए चेंजिंग रूम के साथ-साथ पेयजल की भी व्यवस्था रहेगी। गंगा घाटों पर सुरक्षा के विशेष इंतजाम रहेंगे। इसके अलावा रिवर पुलिस की 25 बोट और 77 गोताखोर भी गंगा घाटों पर तैनात रहेंगे। निगम के कचरा प्रबंधन विभाग के कर्मचारी और श्रमिकों के साथ कोलकाता पुलिस के जवान भी विभिन्न घाटों पर रहेंगे। इसके अलावा छठव्रतियों के लिए पूजा समाग्री की भी व्यवस्था रहेगी।

About Post Author

You may have missed