December 10, 2022

PATNA : विस्थापन से पहले पुनर्वास की व्यवस्था करे राज्य सरकार ; लोजपा रामविलास

पटना। नीतीश सरकार का गरीबों, दलितों, पिछड़ों, शोषितों और वंचितों के प्रति विरोधी मानसिकता पूरी तरह उजागर हो गई है। अतिक्रमण हटाने के बहाने  सरकार लगातार उन पर अत्याचार कर रही है। यह कहना है लोक जनशक्ति पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष राजू तिवारी का। बता दे की गुरुवार को एक प्रेस विज्ञप्ति जारी करते हुए लोजपा (रा) के प्रदेश अध्यक्ष राजू तिवारी ने सरकार के विस्थापन नीति का विरोध करते हुए कहा कि पटना को अतिक्रमण मुक्त कराने के नाम पर पिछले कुछ दिनों से नीतीश सरकार के निर्देश पर सरकारी नुमाइंदे जिस तरह से गरीबों, शोषितों, दलितों, पिछड़ों और वंचितों पर अत्याचार कर रहे हैं। वह घोर निंदनीय है। वही आगे राजू तिवारी ने कहा कि राजधानी पटना समेत अन्य शहरों को अतिक्रमण मुक्त कराने के नाम पर सरकार विस्थापन करवा रही है। जो बेहद अमानवीय कृत्य है। सरकार को पहले विस्थापितों के पुनर्वास की व्यवस्था सुनिश्चित करनी चाहिए।

बिना वैकल्पिक व्यवस्था के झोपड़ियों को तोड़ा जाना नीतीश कुमार के अमानवीय चेहरे को उजागर करता है। वही आगे तिवारी ने कहा कि पिछले चुनाव में नीतीश कुमार ने वादा किया था कि सभी गरीब भूमिहिनों को 3 डिसमिल जमीन दी जाएगी। आज वह जमीन उन्हें मिल गई होती तो वे सभी अपने-अपने घरों में रह रहे होते। लेकिन सरकार की अकर्मण्यता के कारण उन्हें अब तक जमीन नहीं मिल पाई है। जिससे उन्हें सड़कों और अव्यवस्थित जीवन जीने को मजबूर होना पड़ा है। इन सबके पीछे बिहार सरकार दोषी है। वही तिवारी ने उन सभी विस्थापितों के प्रति संवेदना जाहिर करते हुए राज्य सरकार से उनके पुनर्वास की मांग की है।

About Post Author

You may have missed