January 31, 2023

PATNA : शराबबंदी के बाद स्मैक ब्राउन शुगर गंजा सुलेशन एवं अन्य नशीले पदार्थो की लती हो रहे बिहारी युवा

  • रामकृपाल यादव ने लोकसभा में बिहार में नशे के कारोबार के फलने फूलने से रोकने के लिए केंद्र सरकार से हस्तक्षेप की मांग उठाई

पटना। पूर्व केंद्रीय मंत्री व पाटलिपुत्र से बीजेपी सांसद रामकृपाल यादव ने शुक्रवार को लोकसभा में शून्यकाल के दौरान बिहार में लगातार बढ़ रही सूखे नशे की समस्या का मुद्दा उठाया। वही उन्होंने इस मामले में केंद्र सरकार से हस्तक्षेप की मांग की है। रामकृपाल यादव ने बड़ा दावा करते हुए कहा कि पटना और बिहार के अन्य इलाकों में शराबबंदी के बाद एक नई प्रवृति बढ़ती जा रही है। संसद में उन्होंने बताया कि युवाओं में स्मैक और अन्य पदार्थों की लत लगने की घटनाएं बढ़ती जा रही हैं। अब उड़ता पंजाब की जगह उड़ता बिहार बनता जा रहा है। यादव ने लोकसभा के जरिए बताया कि बिहार में शराबबंदी के बाद बिहार के युवाओं में सूखा नशा गलत तेजी से बढ़ता जा रहा है। बिहार के युवा और विशेषकर नाबालिक लड़के भी सुलेशन सूंघ कर नशा कर रहे हैं। इतना ही नहीं ब्राउन शुगर, स्मैक, गांजा, चरस, भांग के लती होते जा रहे हैं। जो बिहार के युवाओं का भविष्य अंधकार में ले जा रहा है। वही उन्होंने कहा कि इस मामले में बिहार में पुलिस व्यवस्था निरंकुश साबित हो रही है। नशे के कारोबार को रोकने में बिहार की सरकार पूरी तरह विफल है। इसलिए इसे बिहार के यूवाओं को भविष्य बचाने के लिए केंद्र सरकार को तत्काल हस्तक्षेप करना चाहिए। पूर्व केंद्रीय मंत्री रामकृपाल यादव नीतीश सरकार पर हमला करते हुए कहा कि उड़ता पंजाब की बातें कही जाती थी। लेकिन नीतीश सरकार में बिहार भी उड़ता पंजाब की तरह उड़ता बिहार बनता जा रहा है और इस गंभीर समस्या को खत्म करने के लिए केंद्र सरकार को हस्तक्षेप करना चाहिए।

वही उन्होंने राज्य की महागठबंधन सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि सूखे नशे के खिलाफ राष्ट्रीय स्तर पर कानून बना हुआ है। लेकिन राज्य सरकार इस कानून को लागू नहीं कर रही है। इसे रोकने के लिए कोई सख्ती नही हो रही है। रामकृपाल यादव का कहना है कि बिहार में शराबबंदी के बाद युवा वर्ग सूखा नशा जैसे गांजा, हेरोइन, ड्रग्स और अफीम का सेवन करने लगे हैं। रामकृपाल यादव ने कहा कि बिहार में शराबबंदी कानून लागू है लेकिन राज्य की नीतीश सरकार की गलत नीतियों की वजह से यह कानून बिहार में पूरी तरह फेल हो चुका है। नशा लेकर बिहार का नौजवान भी बर्बाद हो रहा है क्योंकि शराबबंदी के बाद सूखा नशा का उपयोग प्रदेश में बढ़ता जा रहा है। इससे लोगों की जानें जा रही है, अपराध की घटनाएं बढ़ती जा रही है। नशे की लत में फंस चुका युवा अपने घर में ही चोरी और अपराध करने लगा है।

About Post Author

You may have missed