December 6, 2022

पालीगंज: डाकघर अभिकर्ता की गोली मारकर हत्या, पूरे दिन बाजार बंद

गुस्साए ग्रामीणों ने किया तीन घण्टे सड़क जाम, मौके से अपराधियो की एक बाइक बरामद

पालीगंज। थाना क्षेत्र के डीहपाली गांव में शुक्रवार की देर रात अपराधियों ने डाकघर के एक अभिकर्ता की गोली मारकर हत्या कर फरार हो गया। घटनास्थल से कुछ दूरी से अपराधियो की एक बाइक बरामद हुई है। वही घटना के बिरोध में मुआवजे की मांग को लेकर शनिवार को ग्रामीणों ने शव के साथ रानीतलाब मोड़ पर अरवल बिहटा मुख्य सड़क को जाम कर दिया। वही ब्यवसायियो ने घटना के बिरोध में शनिवार को पूरे दिन अपनी अपनी दुकानें बंद कर बाजार बंद रखा।  जानकारी के अनुसार पालीगंज थाना क्षेत्र के डीहपाली गांव के निवासी स्व. रणजीत वर्मा के 40 वर्षीय पुत्र राकेश वर्मा पालीगंज डाकघर में अभिकर्ता के रूप में कार्य करता था। शुक्रवार की रात दस बजे वह पालीगंज बाजार से लौट रहा था। अभी वह डीहपाली गांव स्थित दरगाह के पास पहुंचा ही था कि अचानक बिजली गुल हो गयी। इसी बीच गोली चलने की आवाज आई। आवाज सुनकर ग्रामीण घर से बाहर निकले तभी बिजली भी आ गयी। बिजली की रोशनी में ग्रामीणों ने देखा की राकेश वर्मा को दो गोलियां लगी है व वह मृत अवस्था मे जमीन पर पड़ा है। वही दो बाइक पर सवार चार अपराधी भाग रहे है। यह देख ग्रामीण ने अपराधियो ने पीछा किया। कुछ ही दूरी पर अपराधियो की एक बाइक खराब हो गयी। जिसे छोड़कर एक ही बाइक पर तीन अपराधियो ने सवार होकर भाग निकला। जबकि अंधेरा का लाभ उठाकर एक अन्य अपराधी पैदल ही भागने में सफल रहा। घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पालीगंज पुलिस को उग्र ग्रामीणों ने खदेड़ दिया। बाद में पूरे दल बल के साथ मौके पर पहुंचे पालीगंज डीएसपी मनोज कुमार पांडेय ने अपराधियो को जल्द ही पकड़ लेने का आश्वाशन देकर ग्रामीणों को समझाया व शव को कब्जे में लेकर कानूनी प्रक्रिया पूरी कर पोस्टमार्टम के लिए पालीगंज अनुमंडल अस्पताल भेज दिया। वही भागने के दौरान घटनास्थल से कुछ ही दूरी पर छूटी अपराधियो की एक प्लैटिना बाइक को पुलिस कब्जे में ले लिया है।
वही शनिवार की सुबह छह बजे पोस्टमार्टम के बाद शव मिलते ही ग्रामीणों ने मुआवजे व अपराधियो की गिरफ्तारी की मांग करते हुए अरवल बिहटा मुख्य सड़क को रानीतलाब मोड़ पर शव को रख दिया व आगजनी करते हुए अरवल बिहटा मुख्य सड़क को जाम कर दिया। जिससे सड़क के दोनों ओर वाहनों की लंबी कतार लग गयी। वही मौके पर पहुंचे जन प्रतिनिधियों व पुलिस ने मुआवजा दिलाने व जल्द ही अपराधियो को गिरफ्तार करने का आश्वाशन देकर ग्रामीणों को समझाया व सड़क से सुबह नौ बजे जाम हटवाया। वही इस घटना के बिरोध में पालीगंज के सभी ब्यवसायियो ने शनिवार को अपनी अपनी दुकानें बंद कर पूरे बाजार को बन्द रखा। शाम चार बजे कुछ दुकानें खुली नजर आयी। ज्ञात हो कि मृतक के पिता रणजीत वर्मा की मौत दो वर्ष पूर्व कैंसर की बीमारी के कारण हो गया था। इनके परिवार में बिधवा मां, पत्नी, एक छोटा भाई के अलावे एक 12 वर्ष तथा दूसरा 8 वर्ष का पुत्र है। वही मां अपनी पुत्री के घर एक माह से गयी हुई है। इन सभी का परवरिश मृतक डाकघर में अभिकर्ता के रूप में कार्य कर अकेला ही कर रहा था।

About Post Author

You may have missed