पेपर लीक के बाद नीट यूजी की काउंसलिंग स्थगित, जल्द होगा नई तारीखों का आधिकारिक ऐलान

नई दिल्ली। नीट यूजी परीक्षा से जुड़ा एक बड़ा अपडेट सामने आया है। स्नातक मेडिकल पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए नीट यूजी काउंसलिंग को स्थगित कर दिया गया है। सूत्रों से पता चला है कि नीट यूजी काउंसलिंग को अगली सूचना तक स्थगित किया गया है। नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने शनिवार को होने वाली नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट-अंडरग्रेजुएट काउंसलिंग को स्थगित कर दिया है। शिक्षा मंत्रालय जल्द ही नई तारीखों की घोषणा करेगा। यह स्थगन तब हुआ है जब उच्चतम न्यायालय ने आज से शुरू होने वाली नीट-यूजी काउंसलिंग में देरी करने से इनकार कर दिया था और कहा था कि यह कोई “खुली और बंद” प्रक्रिया नहीं है। इस मामले में प्रमुख संविदानिक और कानूनी विवादों के चलते, संसद के पहले सत्र में बारहवें दिन काउंसलिंग प्रक्रिया रोक दी गई है। यह निर्णय अधिकारिक तौर पर नीति के अनुसार लिया गया है, ताकि आगामी तारीखों का समाधान किया जा सके। आयोजन के दौरान से ही नीट यूजी परीक्षा विवादों में घिरी हुई है। बड़ी संख्या में टॉपर्स और ग्रेस मार्क्स के बाद मामला सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच गया। शीर्ष न्यायालय में सुनवाई के बाद एनटीए को 1,563 उम्मीदवारों के लिए परीक्षा पुनःआयोजित कराने का निर्देश दिया गया। तब न्यायालय ने दोहराया था कि नीट यूजी काउंसलिंग को रोका नहीं जाएगा। पुनःपरीक्षा में 813 उम्मीदवार शामिल हुए। नीट परीक्षा में पास उम्मीदवारों को मेडिकल पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए काउंसलिंग के दौर से गुजरना था। नीट यूजी काउंसलिंग की शुरूआत 06 जुलाई, यानी आज से होनी थी लेकिन इसे अब स्थगित कर दिया गया है। काउंसलिंग की नई तिथि का एलान जल्द किया जाएगा। नीट यूजी की काउंसलिंग के टलने के बाद, अधिकारिक व्यक्तिगत और संगठनात्मक स्तर पर मुद्दों को लेकर तीखी चर्चाएं चल रही हैं। स्थानीय मीडिया और समाचार संगठनों ने इस मामले में गहराई से जांच की और संदेह जताया है कि पेपर लीक के घटनाक्रम का जिम्मेदार कौन है। इस संदिग्ध मामले में, विभाग ने सभी स्वास्थ्य और अन्य संबंधित संस्थाओं से समर्थन मांगा है ताकि समस्या का जल्द से जल्द समाधान हो सके। विभिन्न छात्र संगठनों ने भी इस मामले में अपनी आवाज उठाई है और न्याय की मांग की है। अधिकारिक तौर पर, नीट यूजी की काउंसलिंग के लिए नई तारीखों का ऐलान जल्द ही किया जाएगा। सरकारी स्तर पर इस मुद्दे को लेकर गंभीरता से देखा जा रहा है और यह सुनिश्चित किया जा रहा है कि उपयुक्त कार्रवाई की जाए ताकि विद्यार्थियों के हक में न्यायपूर्ण निर्णय लिया जा सके। इस घटना ने नीट यूजी की काउंसलिंग प्रक्रिया में बड़ी हलचल मचा दी है और छात्रों और उनके परिवारों को असन्तुष्ट किया है। उम्मीद है कि अगले कुछ दिनों में स्थिति को सुधारा जा सके और सभी परीक्षार्थी अपनी काउंसलिंग प्रक्रिया को संपन्न कर सकें।

About Post Author

You may have missed