December 8, 2022

PATNA : 68वीं बीपीएससी के आवेदन में अभ्यर्थियों से परीक्षा पैटर्न बदलाव के संबंध में फीडबैक लेगा आयोग

पटना। बिहार लोक सेवा आयोग आगामी 68वीं प्रारंभिक परीक्षा के पहले छात्रों से आवेदन के समय ही फीडबैक लेगा। आवेदन में फीड का विकल्प दिया जाएगा। आयोग ने परीक्षा के पैटर्न में बद्लाव को लेकर छात्रों की राय जानने का निर्णय लिया है। आवेदन करने वाले छात्रों के फीडबैक के बाद आम सहमति के आधार पर परीक्षा का पैटर्न निर्धारित किया जाएगा। आयोग के अध्यक्ष अतुल प्रसाद ने बताया कि छात्रों की ओर से कुछ बदलाव को लेकर ज्ञापन दिया गया है। छात्रों ने निगेटिव मार्किंग को सही करार दिया पर इसमें 50 प्रश्नों की अलग से कैसे पहचान होगी। इसके लिए अभ्यर्थियों में संशय है। उन्होंने कहा कि अभ्यर्थियों का तर्क था कि सभी प्रश्नों को एक समान कर दिया जाए। कठिन और हल्के का प्रावधान सही नहीं है। आयोग के अध्यक्ष ने शुक्रवार को मीडिया से बात करते हुए बताया कि 68वीं परीक्षा के लिए आवेदन माह के अंत में लिया जाएगा। जनवरी में परीक्षा नहीं ली जाएगी। इसमें कुछ बदलाव संभव है। प्रारंभिक परीक्षा और लिखित परीक्षा में मार्किंग का स्केलिंग कैसे किया जाएगा। इसके लिए भी छात्रों को अपनी प्रतिक्रिया देने का मौका दिया जाएगा।

वही छात्रों के प्रतिनिधिमंडल ने प्रश्नों में दिये गए ई-विकल्प को हटाने की मांग की। स्टार प्रश्नों की जगह अन्य सवालों को शामिल करने की बात कही जा रही है यानी जो प्रश्नपत्र कठिन रहेंगे उसके स्थान पर प्रश्न को स्तरीय देने का प्रयास किया जाए। इसके अलावा प्रारंभिक परीक्षा के परिणाम तथा मुख्य परीक्षा के बीच कम से कम 60 दिनों का अंतर रखा जाए। मुख्य परीक्षा में मूल्यांकन से पूर्व शामिल प्रोफेसरों या वीक्षक को अंक देने के मापदंड के संदर्भ में सलाह दी जाए। बीपीएससी के संदर्भ में कोई भी जानकारी आयोग की वेबसाइट पर दी जाए।

About Post Author

You may have missed