राज्य के 123 केंद्रों पर आज से शुरू हुआ इंटर की कॉपियों का मूल्यांकन, इस बार पेपर लेस तकनीक पर होगा काम

पटना। बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के द्वारा इंटरमीडिएट वार्षिक परीक्षा की कॉपियों के मूल्यांकन का काम सभी जिलों में आज से शुरू होगा। यह मूल्यांकन 5 मार्च तक चलेगा। हर मूल्यांकन केंद्र पर सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। मूल्यांकन के लिए परीक्षकों की नियुक्ति हो गई है। इंटर का रिजल्ट 20 मार्च तक जारी कर दिया जाएगा। इंटरमीडिएट परीक्षा के उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन प्रदेश के कुल 123 केंद्रों पर किया जाएगा। इंटरमीडिएट परीक्षा में कुल 69,44,777 उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन किया जाना है।
पूरी तरह से पेपरलेस है मूल्यांकन की प्रक्रिया
बिहार बोर्ड द्वारा मूल्यांकन की प्रक्रिया पूरी तरह से पेपरलेस होगी। हर मूल्यांकन केंद्र पर 13-13 एमपीपी यानी कंप्यूटर जानकार की प्रतिनियुक्ति की गयी है। मूल्यांकन के बाद इन्हें अंकों की इंट्री कंप्यूटर पर करनी है। ये हर केंद्र पर उत्तरपुस्तिका के अंकों को दो अलग-अलग कंप्यूटर पर अपलोड करेंगे और फिर उनका मिलान करेंगे। अंतर पाए जाने पर आसानी से गड़बड़ी पकड़ी जा सकेगी। मूल्यांकित कॉपी से अंकों की इंट्री एमपीपी द्वारा उसी दिन कंप्यूटर में की जायेगी। शिक्षकों को कॉपी मूल्यांकन केंद्र पर सुबह 9:30 बजे से मूल्यांकन केंद्र पर पहुंचना है, जिसके बाद मूल्यांकन कार्य सुबह 10:00 बजे से शुरू होकर शाम 5:00 बजे तक चलेगा। हर दिन एक परीक्षक को 25 से 30 उत्तरपुस्तिका की जांच करनी है।
परीक्षार्थी को मिलेंगे स्टेपवाइज मार्किंग
मूल्यांकन कार्य में लगे शिक्षकों को स्टेपवाइज मार्किंग के निर्देश दिए गए हैं। अगर परीक्षार्थी दो अंकों के सवाल का जवाब सही दिए होंगे, तो उनका अंक काटा नहीं जाएगा। सही उत्तर पर स्टूडेंट्स को पूरा मार्क्स मिलेगा। 100 प्रश्न विकल्प के रूप में मिले थे। यदि परीक्षार्थी 50 प्रश्नों से अधिक का उत्तर दे देते हैं, तो भी उनके प्रथम 50 प्रश्नों का उत्तर का ही मूल्यांकन किया जायेगा।

About Post Author