January 31, 2023

प्रदेश में बढ़ते अपराधिक घटनाओं को लेकर अरवल में चिराग पासवान ने बिहार बचाओ पद-यात्रा किया

नीतीश सरकार में जान बूझकर दलितों, पिछड़ों, शोषितों, वंचितों और गरीबों को बनाया जा रहा है निशाना : चिराग पासवान

पटना। अरवल के परासी चकिया में छेड़खानी का विरोध करने पर असामाजिक तत्वों द्वारा मां-बेटी को पेट्रोल छिड़ककर जला दिया गया था। जिसमें सुमन कुमारी की मौत पहले ही हो चुकी है। जबकि गंभीर रुप से जल चुकी उनकी 6 वर्षीय बेटी राधा ने भी पटना के PMCH में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। वही परासी चकिया की इस घटना के अलावें प्रदेश में घटित कई अन्य घटनाओं को गंभीरता से लेते हुए लोक जनशक्ति पार्टी (रामविलास) के राष्ट्रीय अध्यक्ष आदरणीय चिराग पासवान ने सरकार की कुनीतियो के खिलाफ अरवल में बिहार बचाओ पद-यात्रा किया और जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपा। वही इस सौंपे गए ज्ञापन में पासवान ने घटना को अंजाम देने वाले तमाम अपराधियों की अविलंब गिरफ्तारी कर उन्हें सजा दिलाने के अलावें पीड़ित परिवार को उचित मुआवजा, आश्रितों को सरकारी नौकरी एवं सुरक्षा की उचित व्यवस्था किए जाने की मांग की है। वही आगे चिराग पासवान के नेतृत्व में आहूत इस पद-यात्रा में पार्टी के सभी पदाधिकारी एंव हजारों की तादाद में कार्यकर्ताओं ने हिस्सा लिया। वही इस पद-यात्रा के क्रम चिरगा पासवान ने सबसे परासी चकिया में मृतिका सुमन कुमारी के पीड़ित परिजनों से मुलाकात की और उन्हें ढ़ाढस बंधाते हुए जल्द से जल्द उचित न्याय दिलाने के साथ हर संभव मदद का भरोसा दिलाया। परासी चकिया के बाद चिराग पासवान जिले के करपी प्रखंड पहुंचे।

जहां उन्होंने गदोपुर के रंजीत रविदास और बुधु विगहा के मनोज यादव की हत्या से शोकाकुल परिजनों से मिलकर सांत्वना दी। वही इस मौके पर पत्रकारों से बात करते हुए चिराग पासवान ने इन घटनाओं पर गहरा दुख व्यक्त करते हुए कहा कि नीतीश कुमार की सरकार में दलितों, पिछड़ों, शोषितों, वंचितों और गरीबों को जान बूझकर निशाना बनाया जा रहा है। वही उन्होंने कहा की प्रदेश में अनुसूचित जाति से आने वाले लोगों को जिस तरीके से चिन्हित कर के मारा जा रहा है। पासवान समाज से आने वाले चौकिदारों को चुन-चुन कर मारा जा रहा है। दलित समाज की बच्चियों को अगवा कर उनके साथ दुष्कर्म किया जा रहा है। युवाओं का गला रेत कर हत्या की जा रही है। यह सब कहीं ना कहीं सरकार की दलित विरोधी मानसिकता का परिचायक है। वही आगे चिरगा पासवान ने कहा कि बेगुसराय में महिला के साथ दुष्कर्म के बाद हत्या या फिर अरवल में आग लगा कर माँ-बेटी को जला देने की घटना इन सब पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की चुप्पी यह बताती है कि प्रदेश में अपराधियों को सरकार का मौन संरक्षण प्राप्त है। जिनमें उनके अधिकारी भी संलिप्त हैं। वही आगे चिरगा पासवान ने बताया कि उनकी यह पद-यात्रा प्रदेश के हर उसे जिले में हो रही है। जहां अपराध-भ्रष्टाचार चरम पर है और सरकारी तंत्र फेल है।

वही उन्होंने सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि यदी सरकार ऐसी घटनाओं पर सख्ती नहीं दिखाती तो वे प्रदेश भर में ऐसी पद-यात्रा करते रहेंगे। वही पार्टी के मुख्य प्रवक्ता राजेश भट्ट ने बताया कि उक्त बिहार बचाओं पद-यात्रा में मुख्य रुप से पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अरुण कुमार, राष्ट्रीय महासचिव रेणु कुशवाहा, इंदु कश्यप, लोजपा के युवा राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रणय कुमार, सत्यानंद शर्मा, डॉ. शाहनवाज आलम कैफी, छात्र लोजपा (रा) अध्यक्ष यामिनी रंजन मिश्रा, प्रदेश अध्यक्ष राजू तिवारी, प्रदेश उपाध्यक्ष अशरफ अंसारी, ईं. रमेश कुमार, प्रधान माहसचिव संजय पासवान, संगठन मंत्री रविन्द्र सिंह, संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष हुलास पाण्डेय, विस्तारक प्रमुख अजय कुशवाहा, संजय सिंह, सुरेंद्र विवेक, अनिल पासवान, प्रकाश कुशवाहा, प्रदेश प्रवक्ता विनीत सिंह, दिनेश पासवान, अनुपम पासवान, परशुराम पासवान, शोभा सिन्हा, अरवल जिलाध्यक्ष सत्येन्द्र रंजन शामिल रहे।

About Post Author

You may have missed