December 6, 2022

बोकारो: आजसू सुप्रीमो ने अपने स्वाभिमान यात्रा के दौरान कई स्थानों पर की सभा लोगों ने जम कर किया स्वागत

आजसू सुप्रीमो एवं पूर्व उप मुख्यमंत्री सुदेश कुमार महतो ने कहा कि सिस्टम को बदलने के लिए जनता को सरकार के पास जाने के बजाय सरकार को जनता के पास आना होगा। इसके लिए तमाम बुद्विजीवी, महिला, पुरूष व युवाओं को आगे आना होगा। अपनी हक अधिकार के लिए खुद को अपने हिस्से का लड़ाई लड़नी होगी। उक्त बातें रविवार को स्वराज स्वाभिमान यात्रा के तहत आजसू सुप्रीमो सुदेश कुमार महतो ने ऊपरघाट के विभिन्न गांवों में आयोजित चैपाल में कही।

आजसू पार्टी समाजिक न्याय स्थापित कर लोगो को स्वाभिमान की रक्षा करने की संकल्प के साथ आगे बढ़ रही है। आज भी ग्रामीण परिवेश में मुलभूत सुविधाओं की जरूरत है। इसके लिए राज्य का शाषण व्यवस्था में बदलाव लाना होगा। अपने और अपना परिवार, गांव व समाज के मौलिक अधिकार को पाने के लिए राजनीति करना होगा। गांव, पंचायत व राज्य स्तर पर कई मसलें है, जिन पर साझा संवाद के साथ मुल्यांकन जरूरी है। हम भाषण नहीं, बल्कि काम करके लोगों का विश्वास जीतने का प्रयास करते है।
मौके पर उपस्थित आजसू के केंद्रीय महासचिव डाॅ. लंबोदर महतो ने कहा कि स्वराज स्वाभिमान यात्रा से आम लोगों को आजसू पार्टी यह बता रही है कि मेरा स्वराज और स्वाभिमान हर जगह सुनिश्चित हो। थानेदार, बीडीओ और डीसी से मिलने जाए और वे नहीं कहें कि आज समय नही है, कल आना की प्रथा बंद होना चाहिए। बीडीओ को जनता की सेवा करने के लिए और थानेदार हमारी सुरक्षा के लिए बनाया गया, बल्कि मेरा स्वाभिमान को ठेस पहुंचाने के लिए नही।
स्वराज स्वाभिमान यात्रा में सुदेश ने ऊपरघाट के कई गांवों में की पदयात्रा-यात्रा के दौरान पिपराडीह, कंजकिरो, नारायणपुर, पलामू व बरई आदि गांवों में आजसू सुप्रीमो श्री महतो ने पदयात्रा की।
पदयात्रा में केंद्रीय प्रक्वता डाॅ. देवशरण भगत, टुंडी विधायक राजकिशोर महतो, आजसू के केंद्रीय महासचिव डाॅ. लंबोदर महतो, केंद्रीय सचिव संतोष कुमार महतो, आजसू मुख्यालय सचिव टिकैत कुमार महतो, डुमरी प्रमुख यशोदा देवी, मांडु विस प्रभारी तिवारी महतो, जिप सदस्य नवीन कुमार महतो सहित भारी संख्या में महिलाऐं व युवा शामिल थे। साथ ही पारा शिक्षकों की समस्याओ से भी अवगत हुए। नारायणपुर में झारखंड आंदोलनकारी स्व. कैलाश महतो की पत्नि रूकमणि देवी को शाॅल ओढ़ाकर सम्मानित किया। यहां 47 महिला समूह के महिलाओं व स्कुली छात्रों ने आजसू सुप्रीमो श्री महतो को पारंपरिक तरीके से तिलक एवं पूष्प वर्षा कर स्वागत किया गया। यहां पर टिकैत कुमार महतो के नेतृत्व में 51 किलो माला पहना सुदेश महतो को स्वागत किया गया। स्वराज स्वाभिमान यात्रा में मुख्य रूप से प्रखंडध्यक्ष मिसरीलाल महतो, उपाध्यक्ष रामकुमार मरांडी, परमेश्वर महतो, गौतम महतो लालमोहन तुरी, जितेंद्र महतो, राजेश तुरी, संजय अग्रवाल, बीजू अग्रवाल, बाल्मीकि प्रजापति, बबलू प्रजापति, गणपत महता,े नागेश्वर महतो, दीपू अग्रवाल, संतोष महतो, दिनेश महतो, बिश्वनाथ महतो, सुरेश महतो, महेंद्र महतो, विकाश तुरी, बीरेंद्र महतो, फूलचंद मरांडी, अर्जुन महतो, सुरेश शर्मा सहित हजारों लोग शामिल थे।

About Post Author

You may have missed