February 5, 2023

गया के महाबोधि मंदिर में शराब के साथ रूसी भिक्षु गिरफ्तार, बोला- तंत्र साधना के लिए लाया था, पुलिस कर्मियों ने दबोचा

गया। बोधगया में महाबोधि मंदिर में 10 ML शराब के साथ रूसी बौद्ध भिक्षु को पकड़ा गया है। वह बौद्ध धर्म के तहत तंत्र साधना के लिए मंदिर में शराब ले जा रहा था। भिक्षु को विशेष सुरक्षा कर्मियों ने बोधगया पुलिस को सौंप दिया है। पुलिस इस मामले में आरोपी रूसी बौद्ध भिक्षु इडिपसी एयास पर एफआईआर दर्ज की है। बोधगया थानाध्यक्ष रूपेश कुमार ने बताया कि रूसी बौद्ध भिक्षु अपने साथ बोतल में शराब लेकर मंदिर में प्रवेश करने की कोशिश में था, लेकिन स्कैनर मशीन में शराब की बोतल पकड़ी गई। इस पर सुरक्षा कर्मियों ने बोतल को निकलवा कर देखा तो उसमें से विदेशी शराब निकली। 100 एमएल की बोतल में करीब 10 एमएल शराब थी। चूंकि पूरे प्रदेश में शराब पूरी तरह से प्रतिबंधित है। इसलिए उसके खिलाफ कार्रवाई करते हुए उसे गिरफ्तार कर लिया गया। अब उसे कोर्ट में पेश किया जाएगा। दिसंबर में महाबोधि मंदिर परिसर में सुरक्षा कर्मियों के बैरक के निकट से शराब की बोतलें बरामद हुई थीं। बता दें कि तंत्र साधना के तहत बौद्ध धर्म में विशेष स्थान है। यहां 21 तारा देवियों की साधना होती है। इसके अलावा बौद्ध धर्म से जुड़े अन्य पंथ में तंत्र साधना की विशेष पूजा होती है। हर के पंथ के अलग-अलग विधान है। महाबोधि मंदिर में ऐसा नजर नहीं आता है, लेकिन परिसर के अंदर साधना में लीन बौद्ध भिक्षु और लामा नजर आते हैं। वही बीते दिनों बोधगया में मुखोटा डांस भी हुआ था। यह नृत्य, तंत्र साधना की एक कड़ी है। साथ इस डांस के माध्यम से बुरी आत्माओं को दूर भगाया जाता है। उन पर विजय प्राप्त करने के लिए डांस किया जाता है। साथ ही विश्व शांति की कामना जाती है। यह काम बौद्ध लामा ही करते हैं।

About Post Author

You may have missed