August 11, 2022

15 जुलाई के बाद शुरू होगा राजद का संगठनात्मक चुनाव, जगदानंद सिंह के जगह प्रदेश अध्यक्ष के लिए ये नाम सबसे आगे

  • दावेदारों में सबसे ऊपर पार्टी के मौजूदा विधायक और पूर्व मंत्री आलोक मेहता का नाम माना जा रहा है

पटना। राष्ट्रीय जनता दल में 15 जुलाई के बाद आरजेडी का संगठनात्मक चुनाव शुरू होगा। सबसे पहले बूथ स्तर और पंचायत स्तर के चुनाव होंगे इसके बाद प्रखंड और फिर जिला स्तर होते हुए राज्य कार्यकारिणी तक का चयन होगा। सितंबर महीने में पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष का चुनाव होना है और अक्टूबर में राष्ट्रीय अध्यक्ष का चुनाव होगा। वही सूत्रों से सामने आ रही जानकारी के अनुसार, मौजूदा प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह दोबारा प्रदेश अध्यक्ष की कुर्सी नहीं संभालेंगे। पार्टी के विश्वस्त सूत्रों के हवाले से जो जानकारी मिली है उसके मुताबिक जगदानंद सिंह ने दोबारा प्रदेश अध्यक्ष बनने में दिलचस्पी नहीं दिखाई है। उनकी जगह लालू प्रसाद यादव और तेजस्वी यादव किसी नए चेहरे को नेतृत्व देने पर विचार कर रहे हैं। तेजस्वी यादव अपने टीम में शामिल नेताओं में से किसी एक को प्रदेश अध्यक्ष की कुर्सी पर बैठाएंगे। इन दावेदारों में सबसे ऊपर पार्टी के मौजूदा विधायक और पूर्व मंत्री आलोक मेहता का नाम माना जा रहा है। आलोक मेहता कुशवाहा समाज से आते हैं और आरजेडी अगर उन्हें प्रदेश अध्यक्ष बनाती है तो जनता दल यूनाइटेड की तरफ से लव कुश समीकरण का काट वह खड़ा कर सकती है।
लालू के कहने पर प्रदेश अध्यक्ष बने रहे जगदानंद सिंह, अब किसी नए को मिलेगा मौका
वही यह भी कहा जा रहा हैं की जगदानंद सिंह काफी पहले ही प्रदेश अध्यक्ष का पद छोड़ चुके होते लेकिन लालू यादव के कहने पर वह काम करते रहे। लालू प्रसाद यादव और पार्टी को लेकर उनकी निष्ठा थी। तेजप्रताप यादव की तरफ से लगातार बयानबाजी होने के बावजूद जगदा बाबू ने प्रदेश अध्यक्ष की कुर्सी संभाले रखी। तेजस्वी यादव ने ऐसे वक्त में प्रदेश नेतृत्व के लिए आगे किया था। जब पार्टी अनुशासनहीनता के दौर से गुजर रही थी लालू यादव ने जिस काम के लिए जगदानंद सिंह को प्रदेश अध्यक्ष की कुर्सी पर बिठाया वह काम पूरा भी हुआ। जगदानंद सिंह ने पार्टी के अंदर अनुशासन बनाया। साथ ही साथ पहले से ज्यादा व्यवस्थित रूप से काम करने वाली पार्टी अब राजद बन चुकी है।

You may have missed