December 6, 2022

ठहराव नहीं होने से कभी भी हो सकता है बड़ा रेल हादसा

पटना।दानापुर स्टेशन में कई गाड़ियों का ठहराव नहीं है। जिससे किसी भी समय दानापुर स्टेशन में यात्रियों के साथ रेल हादसा हो सकता। पटना के स्थान पर दानापुर  से  तीन गाड़ियों में संगमित्रा एक्सप्रेस, जनसाधारण एक्सप्रेस एवं पुणे एक्सप्रेस का  परिचालन करने से लाखों यात्रिओं को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। जब ये तीनो गाड़ियों का दानापुर स्टेशन में आकर परिचालन समाप्त होती है तब उसके यात्री पटना एवं पटना नगर के बाहर जाने वाले यात्रिओं को काफी कठिनाई होती है। कियोंकि पटना जाने में सवारी के नाम पर काफी रुपये खर्च होते हैं साथ ही शारीरिक एवं मानसिक तनाव भी होता है।  इसलिए दानापुर स्टेशन में किसी दूसरी गाड़ी का आने का इंतज़ार करते हैं।
आज १५१२६ डाउन कशी-पटना जनशताब्दी एक्सप्रेस थ्रू क्रॉस कर रही थी तभी यात्रिओं ने चलती रेलवे लाइन पर खड़ा हो कर गाड़ी को रुकवाने की कोशिश कर रहे थे। लेकिन सिग्नल लाल होने की वजह से गाड़ी रुक गयी और हजारों यात्री उस पर चढ़ गएँ। अगर सवारी गाड़ी होती तो यात्रियों को इतनी परेशानी नहीं होती और काशी-पटना जनशताब्दी एक्सप्रेस का ठहराव होती तो यात्रिओं को लाइन पर खड़ा होकर गाड़ी रुकवाने की कोशिश नहीं करते।
बिहार दैनिक यात्री संघ के  अध्यक्ष बी. पी. शर्मा, महामंत्री  नन्द किशोर प्रसाद, सचिव शोएब कुरैशी, विजय कुमार सिंह, बालेश्वर शाह ने माननीय रेल मंत्री पियूष गोयल, पूर्व मध्य रेल के महाप्रबंधक ललित चंद्र त्रिवेदी एवं दानापुर मंडल रेल प्रबंधक रंजन प्रकाश ठाकुर से मांग की है कि सुबह में बक्सर-पटना के बीच में सवारी गाड़ियों की संख्या बढ़ाई जाये ताकि रेल हादसा होने से बचा जा सके, काशी-पटना जनशताब्दी एक्सप्रेस दानापुर स्टेशन में ठहराव दी जाए  साथ ही साथ ६३२३२ डाउन बक्सर – पटना मेमू सवारी गाड़ी  एवं ५३२१२ सासाराम – पटना सवारी गाड़ी को सुबह १० से ११ बजे तक पहुंचाई जाये।

About Post Author

You may have missed