December 8, 2022

मुजफ्फरपुर एसएसपी के नाम खुला चिट्ठी, बात निकली है तो दूर तलक जाएगी

पटना। सांसद पप्पू यादव पर हमले के मामले में मुजफ्फरपुर एसएसपी हरप्रीत कौर के बयान पर जन अधिकार पार्टी (लो) के प्रदेश प्रवक्ता श्याम सुंदर ने मुजफ्फरपुर एसएसपी के नाम खुला खत लिखा है। उन्होंने लिखा है कि बात निकली है तो दूर तलक जाएगी। मुजफ्फरपुर एसएसपी पार्टी के संरक्षक सह सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव की बातों से काफी आहत हैं। वह कह रही हैं कि नारी सम्मान के लिये पदयात्रा करने वाले पप्पू यादव एक नारी का अपमान कर रहे हैं और लव लेटर लिखने की बात कर रहे हैं।
श्याम सुंदर ने आगे लिखा कि पप्पू यादव ने यह तब कही, जब एसएसपी अपनी सफाई पटना के एक पत्रकार को दी। घटना खबरा मुहल्ले में हुई और उन्होंने वीडियो चंद्रहट का जारी की। पत्र के जरिये उन्होंने पूछा कि क्या मुजफ्फरपुर में कोई पत्रकार नहीं था। क्या एसएसपी अपनी सारी सार्वजनिक करने वाली बातें पटना के ही पत्रकार से करती हैं। आखिर माजरा क्या है? इस पर एसएसपी क्यों नहीं बोल रहीं, किसके इशारे पर चंद्रहट के वीडियो को खबरा का वीडियो बता रही हैं। वह क्यों कह रही हैं कि महिला होने के नाते मेरा अपमान हैं। आने वाले दिनों में वह यह भी कह सकती हैं कि अनुसूचित जाति के हैं, इसलिये पप्पू यादव ने हमें निशाने पर लिया? क्या यह सच नहीं है कि जब भी कोई सरकारी सेवक फंसता है तो इसी तरीके से मामले को तोड़मरोड़ कर पेश करता है?
उन्होंने एसएसपी पर झूठ बोलकर गुमराह करने का आरोप लगाया और एसएसपी के नारको टेस्ट की मांग की। उन्होंने लिखा कि सच्चाई सामने आये, इसके लिए मोबाइल और टेलीफोन पर हुई बातचीत भी सार्वजनिक होना चाहिये। ताकि देश को यह पता चल सके कि संवैधानिक पद पर बैठा व्यक्ति कैसे देश को गुमराह कर रहा है। एसएसपी देश की कड़ी प्रतियोगिता परीक्षा पास कर आयी हैं। पप्पू यादव की शिकायत सिस्टम से है ना कि किसी महिला से। खैरए भावुक होकर जिस लहजे में एसएसपी ने अपने फेसबुक अकाउंट से पहले अंग्रेजी और बाद में हिंदी में पोस्ट करते हुए लिखती हैं कि पप्पू यादव की बातों से आहत हूं तो फिर सवाल है कि ईमानदारी से काम करने का दावा करने वाली एसएसपी यह बताएंगी कि आखिर क्यों शेल्टर होम में रहने वाली नाबालिग लड़कियों की चीख से आहत नहीं हो रही थीं, जबकि लड़कियां शाम होते ही दरिंदों के डर से आये दिन चीखना-चिल्लाना शुरू कर देती थी।

About Post Author

You may have missed