November 26, 2022

लाइसेंस में दिए समय पर निकालें शोभायात्रा

शराबियों और लहरिया बाइकर्स पर होगी पैनी नजर, एंटी रेसिम टीम रहेगा एक्टिव

पटना सिटी (आनंद केसरी)। इस बार दशहरा पूजा पर हुड़दंगियों, शराबियों और लहरियाकट बाइकर और बाइकर्स गैंग पर पुलिस की खास नजर है। पूजा समितियों को बड़ा पंडाल में महिला-पुरुष का अलग लाइन, सीसीटीवी, अग्निशमन यंत्र, बाल्टी भरा बालू-पानी रखने और 20 वालंटियर्स का नाम आईडी प्रूफ के साथ संबंधित थाना को देना होगा। पूजा समितियों को लाइसेंस के लिए आवेदन में कहां का कौन सा बैंड, कितना आदमी, ठेला, साउंड बॉक्स, विसर्जन जुलूस में कितने लोग और क्या-क्या शामिल होगा, के साथ ही कब और कितने बजे शोभायात्रा निकालना चाहते हैं, सब विवरण देना होगा। यह बात अनुमंडल स्तरीय शांति समिति की गायघाट स्थित इंडोर स्टेडियम में एएसपी बलिराम कुमार चौधरी ने शनिवार को कही। एसडीओ राजेश रौशन ने कहा कि दशहरा पर पानी, बिजली और सफाई की व्यवस्था होगी। रानीघाट, गायघाट पर भी प्रतिमाओं के विसर्जन की व्यवस्था होगी। भद्र घाट पर विशेष व्यवस्था होगी। प्रशासनिक पंडाल, ध्वनि विस्तारक यंत्र, सीसीटीवी, गोताखोर और एनडीआरएफ की तैनाती होगी। सदस्यों के सुझाव पर एसडीओ ने कहा कि बनने वाला चाली को इस बार लंबाई-चौड़ाई में बड़ा कराया जाएगा। नाव पर नाविक का नाम के साथ भाड़ा भी तय किया जाएगा, ताकि कोई विवाद की स्थिति पूजा समिति वालों के साथ न हो। हर पूजा समिति को बिजली का अस्थाई कनेक्शन लेना होगा। टोंका फंसा कर बिजली उपयोग करने वाले पूछा स्मृति के लोगों पर कार्रवाई होगी। श्री बड़ी पटनदेवी, अगमकुआं स्थित श्री शीतला माता मंदिर में श्रद्धालुओं को पंक्तिबद्ध करने को महिला-पुरुष बल की तैनाती होगी। इस बार भी डीजे को हर हाल में शोभायात्रा में शामिल नहीं होने दिया जाएगा। ऐसा होने पर डीजे को जब्त करते हुए पूजा समिति के लाइसेंसधारकों पर भी कार्रवाई होगी। विसर्जन जुलूस में आपत्तिजनक नारा, कार्टून शामिल या प्रदर्शित नहीं किया जाएगा। पर्व के दौरान हथियार और ट्यूब लाइट लेकर चलना मना है।

एएसपी ने पूजा समिति के लोगों से खासकर अपील की कि कलश स्थापन के बाद 24 घंटे उसकी निगरानी को अपना वालंटियर रखें। किसी जानवर के प्रवेश और कलश के गिरने के बाद फैले अफवाह से विधि-व्यवस्था की स्थिति उत्पन्न होती है। कहीं पूजा के दौरान सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित हो, तो उसकी सूचना संबंधित थाना को देने के साथ ही एसडीओ और एएसपी को भी दें। सिटी फायर स्टेशन के फायर ऑफिसर सुरेंद्र सिंह ने आग से बचाव को पंडाल और पूजा स्थल पर किए जाने वाले इंतजाम के बारे में बताया। इस दौरान डीसीएलआर अखिलेश कुमार, कार्यपालक पदाधिकारी उमेश सिंह, पेसू, नगर निगम, वाटर बोर्ड के प्रतिनिधि भी मौजूद हो तैयारियों के बारे में बताया। पीस कमेटी की ओर से गणेश कुमार, डॉ विनोद अवस्थी, रमेश रजक, चुन्नू चंद्रवंशी, अशोक केसरी, विभिन्न पूजा समिति के लोगों ने विचार रखा।

About Post Author

You may have missed