December 8, 2022

टैगोर स्कॉलरशिप टेस्ट से एक हजार छात्र-छात्राओं को मिलेगी छात्रवृति

पटना। टैगोर स्कॉलरशिप टेस्ट के माध्यम से एक हजार छात्र-छात्राओं को उच्च तकनीकी एवं प्रोफेशनल कोर्स की पढ़ाई के लिये छात्रवृति मिलेगी। दसवीं के बाद पॉलिटेक्निक एवं बारहवीं के बाद बीटेक, बीबीए, बीसीए, एग्रीकल्चर जैसे कोर्स के लिये यह स्कॉलरशिप दी जायेगी। पॉलिटेक्निक के बाद बीटेक लैटेरल एंट्री के इच्छुक छात्र-छात्राएं भी इसका लाभ ले सकेंगे। छात्रवृति की न्यूनतम राशि पच्चीस हजार रुपये से लेकर अधिकतम छह लाख रुपये तक निर्धारित की गई है। टैगोर स्कॉलरशिप टेस्ट का आवेदन फॉर्म लॉंच करते हुये कॉर्डिनेटर धनंजय कुमार सिन्हा ने बताया कि इस स्कॉलरशिप का प्रारूप इस प्रकार तैयार किया गया है कि टेस्ट में शामिल होने वाले अधिकतर छात्र-छात्राओं को किसी-न-किसी संबद्ध कॉलेज अथवा यूनिवर्सिटी में पढ़ने के लिये स्कॉलरशिप उपलब्ध कराया जा सके। उन्होंने कहा कि आवश्यकता पड़ने पर स्कॉलरशिप की संख्या बढ़ाने पर भी विचार किया जायेगा। इसके लिये संबद्ध संस्थानों का रूख भी सकारात्मक है। धनंजय ने बताया कि सप्ताह भर में बिहार एवं झारखंड के सभी जिलों में आवेदन फॉर्म उपलब्ध करा दिया जायेगा। फॉर्म दुकानों के अलावे कोचिंग संस्थानों एवं स्कूल-कॉलेजों में भी फॉर्म उपलब्ध कराने का प्रयास किया जायेगा। इसके अलावे पटना के पटना के बोरिंग रोड स्थित टैगोर एडूकॉन्स एवं पटना जंक्शन के पास स्थित टेक्नो हेराल्ड संस्थान से भी आवेदन फॉर्म प्राप्त किया जा सकेगा। आवेदन फॉर्म का मूल्य सौ रुपये रखा गया है। लड़कियों को यह पचास रुपये में उपलब्ध हो सकेगा। रुक्मिणी मेमोरियल एजुकेशनल ट्रस्ट एवं टैगोर एडूकॉन्स के संयुक्त तत्वाधान में आयोजित होने वाले इस स्कॉलरशिप टेस्ट के संबद्ध कई संस्थान शामिल हैं। टेस्ट में शामिल होने वाले छात्र-छात्राएं इन संस्थानों में स्कॉलरशिप के आधार पर दाखिला पा सकेंगे। कॉर्डिनेटर ने बताया कि कई अन्य संस्थानों से भी बातचीत चल रही है। संबद्ध संस्थानों की संख्या में वृद्धि की सम्भावना है। ऐसी परिस्थिति में स्कॉलरशिप की संख्या में भी स्वत: वृद्धि हो जायेगी और ज्यादा-से-ज्यादा छात्र-छात्राओं को इसका लाभ मिल सकेगा। परीक्षा आगामी जनवरी 2018 के अंतिम सप्ताह में आयोजित की जायेगी। बिहार एवं झारखंड के अधिकतर जिलों में परीक्षा-केंद्र दिये जायेंगे।
मौके पर टैगोर एडूकॉन्स के प्रबंधक अमित कुमार सिंह, तालीम के निदेशक फैज अकरम, ड्रीम्स एडू सर्विसेज के मो. वसीम अहमद एवं अचीवर्स के निदेशक ई. अमित कुमार भी मौजूद थे।

About Post Author

You may have missed