November 26, 2022

एससीसी: 58 छात्र-छात्राओं को डीएम ने किया वितरित

पटना। जिला निबंधन सह परामर्श केन्द्र में विकसित बिहार के सात निश्चय आर्थिक हल युवाओं को बल के तहत जिला निबंधन सह परामर्श केन्द्र में दो करोड़ 27 लाख 25,000 ऋण की राशि बिहार स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड अनुपमा कुमारी, नेहा कुमारी, सिंकू कुमार, सूरज कुमार सहित 58 छात्र-छात्राओं के बीच डीएम कुमार रवि ने वितरित किया। जिलाधिकारी ने कुशल युवा कार्यक्रम के अंतर्गत 143 आवेदकों के बीच प्रमाण-पत्र वितरण किया। उन्होंने बताया कि विकसित बिहार के सात निश्चय में एक महत्वपूर्ण निश्चय आर्थिक हल युवाओं को बल बिहारी युवाओं के लिए राज्य सरकार की अभूतपूर्व पहल है। इसके तहत बिहार स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना, मुख्यमंत्री निश्चय स्वयं सहायता भत्ता योजना एवं कुशल युवा कार्यक्रम आता है। आज क्रेडिट कार्ड के अंतर्गत स्वीकृत की गई ऋण की राशि 59 करोड़ 92 लाख तथा वितरित की गई ऋण की राशि 36 करोड़ 65 लाख है। जिला में 3049 क्रेडिट कार्ड स्वीकृत है। डीएम ने बताया कि कुशल युवा कार्यक्रम के अंतर्गत 32,208 आवेदन स्वीकृत हुए हैं, अभी 5,277 व्यक्ति जिला में कार्यरत विभिन्न कुशल युवा कार्यक्रम सेन्टर पर प्रशिक्षण ले रहे हैं। अब तक कुल 28,398 आवेदक कुशल युवा कार्यक्रम योजना अंतर्गत प्रशिक्षण प्राप्त कर चुके हैं। उन्होंने कहा कि जिला में कुशल युवा कार्यक्रम के कुल 92 प्रशिक्षण केन्द्र संचालित है। मुख्यमंत्री सहायता भत्ता योजना अंतर्गत 13 हजार छात्र-छात्राओं को स्वयं सहायता भत्ता दी जा चुकी है, जिसकी राशि 10 करोड़ 90 लाख 67 हजार है। बिहार स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड 12वीं कक्षा उत्तीर्ण इच्छुक विद्यार्थी के लिए 4 लाख तक के शिक्षा ऋण पर राज्य सरकार की गारंटी है। इस योजना के तहत अब बिहार राज्य शिक्षा वित्त निगम 12वीं कक्षा उत्तीर्ण विद्यार्थियों को चार लाख का ऋण देती है। यह ऋण उच्च शिक्षा के सामान्य पाठ्यक्रमों एवं विभिन्न व्यवसायिक/तकनीकी पाठकर्मों यथा- बीए, बी.एससी, इंजीनियरिंग, एमबीबीएस, प्रबंधन एवं विधि के लिए दी जाती है। डीएम कुमार रवि ने कहा कि जो छात्र या छात्राएं चिन्ह्ति पाठ्यक्रम से उच्च शिक्षा प्राप्त करना चाहते हैं, उन्हें बिहार राज्य वित्त निगम के द्वारा बिना प्रतिभूति जमा किये हुए 4 लाख का ऋण प्राप्त होता है। सरकार के इस महत्वपूर्ण निर्णय से बड़ी संख्या में बच्चे अपने लक्ष्य को पूरा कर रहे हैं। पहले बैंकों द्वारा ऋण की राशि स्वीकृत करने के पहले जमानत ली जाती थी। उन्होंने कहा कि प्रबंधक, सभी सहायक प्रबंधक एवं कर्मी पूरी मेहतन एवं लगन के साथ कार्य करें ताकि पटना जिला बिहार स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना में अव्वल रहे। मुख्यमंत्री निश्चय स्वयं सहायता भत्ता योजना का लाभ जिला में करीब 13,000 बच्चों को दिया जा चुका है। इसके तहत 20 से 25 वर्ष के 12वीं उत्तीर्ण बेरोजगार युवा-युवती, जो अध्ययनरत नहीं हैं अथवा उच्चतर शिक्षा प्राप्त नहीं किये हों, उन्हें रोजगार तलाशने के दौरान सहायता के तौर पर हजार रुपया प्रतिमाह की दर से स्वयं सहायता भत्ता दो वर्षों के लिए दी जाती है। डीएम ने बताया कि कुशल युवा कार्यक्रम योजना के अंतर्गत 15 से 28 वर्ग के युवा युवती, जो मैट्रीक उत्तीर्ण हैं अथवा उच्च शिक्षा में अध्ययनरत/उपाधि प्राप्त कर चुके हैं, उन्हें हिन्दी तथा अंग्रेजी भाषा एवं व्यवहार कौशल तथा बुनियादी कम्प्यूटर ज्ञान के लिए तीन माह का प्रशिक्षण दिया जाता है। अबतक जिला में कुल 28,398 आवेदक कुशल युवा कार्यक्रम के अंतर्गत प्रशिक्षण प्राप्त कर चुके हैं। उन्होंने कहा कि बिहार के छात्र प्रतिभा सम्पन्न एवं मेधावी हैं, किन्तु उनका पर्सनालिटी एवं सॉफ्ट स्किल डेवलप नहीं हो पाता है। इसी के लिए तीन माह का प्रशिक्षण दिया जाता है। जो बच्चे अच्छे से अच्छे प्रतियोगिता परीक्षा में उत्तीर्ण होते है उनका भी soft skill develop नहीं हो पाता है, ऐसे बच्चों के लिए बिहार सरकार ने कुशल युवा कार्यक्रम निश्चय योजना लागू कर लाभांवित किया। अपर समाहर्त्ता आपदा प्रबंधन सह नोडल पदाधिकारी जिला निबंधन सह परामर्श केन्द्र ने स्वागत भाषण एवं धन्यवाद ज्ञापन किया। सहायक प्रबंधक समरीन जमाल ने छात्र-छात्राओं को योजना की जानकारी दी। इस दौरान जिला योजना पदाधिकारी श्रीमती निर्मला कुमारी, जिला शिक्षा पदाधिकारी ज्योति कुमार, जिला जनसम्पर्क पदाधिकारी अनिल कुमार चौधरी, जिला कार्यक्रम पदाधिकारी (शिक्षा) श्रीमती विभा कुमारी, प्रबंधक जिला निबंधन सह परामर्श केंद्र श्रीमती स्नेहा कुमारी सहित अन्य उपस्थित थे।

About Post Author

You may have missed