December 10, 2022

फुटपाथ दुकानदारों के पक्ष में उतरें पप्पू यादव, जानिए नीतीश सरकार को क्या बोलें

पटना। जन अधिकार पार्टी (लो) के राष्ट्रीय संरक्षक सह सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव ने पटना सहित पूरे राज्य भर में बिना नोटिस के हाईकोर्ट के आदेश की आड़ में झुग्गी झोपड़ी और फुटपाथ दुकानदारों को उजाड़े जाने पर गंभीर चिंता प्रकट की। सांसद ने कहा कि आज जिस प्रकार से रोजी रोटी की समस्या तथा लोगों को बरसात के समय में खुले आसमान के नीचे रहने पर मजबूर किया जा रहा है, ये कहीं से भी उचित और मानवीय दृष्टिकोण नहीं है। ऐसा लगता है कि राज्य में लोक पर तंत्र हावी हो गया।
फुटपाथ दुकानदारों की समस्याओं को लेकर पटना के न्यू मार्केट पटना जंक्शन के समीप आयोजित महती सभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि अफसरशाही, गरीबों तथा आम जनता पर हाईकोर्ट के आदेश का डंडा दिखाकर मनचाहे तरीके से लोगों को उजाड़ने का काम कर रही है, जबकि होना यह चाहिए था कि इन लोगों को बसाने के लिए राज्य सरकार वैकल्पिक व्यवस्था करती। जब तक इन लोगों को बसाने की व्यवस्था नहीं हो जाती है, तब तक के लिए राज्य सरकार पटना हाईकोर्ट में एक शपथ पत्र के माध्यम से समय सीमा का निर्धारण करके गरीबों के हित में बेहतर उपाय का कार्य करती और उनके बसाने की व्यवस्था करती।


सांसद ने कहा कि बिहार में नीतीश सरकार के द्वारा गरीबों, वंचितों तथा अकलियतों को अब भूखमरी व उनके परिवार को आत्महत्या करने को मजबूर किया जा रहा है, क्योंकि खाने के लाले पड़े हुए हैं। गरीब फुटपाथ पर अपनी रोजी-रोटी की समस्या को लेकर सड़कों पर आता है तो उन्हें जबरदस्ती बिना किसी जुर्म के जेल की सलाखों में बंद किया जा रहा है या उन पर 5000 से अधिक का जुर्माना किया जा रहा है। क्या मानवीय दृष्टिकोण से यही सुशासन और न्याय के साथ विकास का मतलब है।
वहीं पार्टी के राष्ट्रीय प्रधान महासचिव एजाज अहमद ने कहा कि पार्टी हर स्तर पर गरीबों के साथ पार्टी खड़ी रहेगी और इस मामले में पटना हाईकोर्ट और सर्वोच्च न्यायालय तक न्याय के लिए गरीबो को हर स्तर पर सहयोग देने का काम करेगी। इस अवसर पर पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अखलाक अहमद, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रघुपति सिंह, पटना नगर फुटपाथ दुकानदार यूनियन के नेता मोहम्मद शहाबुद्दीन, शहजादे आलम, अशफाक खान, अजय कुमार, सुनैना देवी, महेश कुमार सहित, राष्ट्रीय महासचिव सह प्रवक्ता प्रेमचंद सिंह, राजेश रंजन पप्पू, संदीप सिंह समदर्शी, अरुण सिंह उपस्थित थे।

About Post Author

You may have missed