December 10, 2022

नालंदा में चार साल की मासूम की अपहरण के बाद हत्या

बिहार में अपराधी बेखौफ अपराध की वारदातों को अंजाम दे रहे हैं। अपराधियों के बढ़ते मनोबल की वानगी इस बार बिहार के नालंदा जिले में देखने को मिली है। नालंदा के चंडी से चार साल की बच्ची को अगवा कर उसकी हत्या कर दी गयी। परिजन ने नरबली की आशंका जतायी है। उन्होंने थाने में आवेदन देकर जहर देने के बाद गला दबाकर हत्या का आरोप लगाते हुए अज्ञात के खिलाफ एफआईआर करायी है। थाना क्षेत्र के मोसिमपुर गांव निवासी सीआईएसएफ जवान संजय कुमार की बेटी फ्रूटी कुमारी गायब होने के बाद पटना जिले के बख्तियारपुर अस्पताल में बीमार हालत में मिली थी। सोमवार की सुबह इलाज के दौरान उसकी मौत हो गयी। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम करा परिजन के हवाले कर दिया है।खोजबीन के दौरान ही संजय को एक परिचित ने फोन कर बताया कि उनकी बच्ची को बख्तियारपुर के पेट्रोल पंप के पास देखा गया है। यह सुनकर परिजन वहां पहुंचे। वहां पता चला कि बच्ची स्थानीय अस्पताल में भर्ती है। इसके बाद परिजन अस्पताल पहुंचे। वहां बच्ची भर्ती थी। चिकित्सक ने बताया कि बच्ची काफी डरी हुई थी और रो रही थी। इसलिए नींद का इंजेक्शन दिया गया है। हालांकि वहां बच्ची बार-बार उल्टी कर रही थी। उसके गले पर निशान भी था। डॉक्टर ने कहा कि घबराने की बात नहीं है, बच्ची ठीक है।कुछ देर बाद बच्ची को होश आया तो उसने बताया कि एक आदमी ने उसे जबर्दस्ती बाइक पर बैठा लिया और यहां लेकर चला आया। उसके बाद वह बेहोश हो गयी और उसे कुछ याद नहीं। होश आने के बाद डॉक्टर ने बच्ची को स्वस्थ बताकर परिजन को घर लेकर जाने को कहा। घर लाते ही उसकी तबीयत और खराब हो गयी। परिजन उसे बिहारशरीफ के निजी क्लीनिक पहुंचे, जहां बच्ची की मौत हो गयी।बच्ची की मौत की सूचना पाकर चंडी थानाध्यक्ष मुकेश कुमार बिहारशरीफ पहुंचे। शव का पोस्टमार्टम सदर अस्पताल में कराया गया। पिता ने आशंका जतायी है कि बच्ची की बली देने की कोशिश की गयी।

About Post Author

You may have missed