December 5, 2022

खैरा गढ़ माँ जगदंबा की कृपा सबों पर बनी रहे-सुमित सिंह

जमुई।मां जगदम्बा खैरा गढ़ की कृपा से हम सब कृतार्थ होते है, जीवन संघर्ष में मैं जो कुछ कदम आगे बढ़ा वह मां दुर्गे खैरा गढ़ के आशीष से ही संभव हुआ। चकाई, सोनो, खैरा समेत समस्त जमुईवासियों की हरसंभव सेवा को तत्पर रहने का भाव, प्रेरणा सब माता का सदप्रभाव है। समस्त अंग क्षेत्र की उन्नति और बिहार के कल्याण की कोशिश जगतजननी की सद्प्ररेणा से ही संभव है।उक्त बातें पूर्व विधायक सुमित सिंह ने खैरा में माता के पूजन के दौरान कहीं। महासप्तमी के दिन मां की पूजा-अर्चना, महाआरती कर पूर्व विधायक ने उनका आशीर्वाद प्राप्त किया। तदुपरांत मेला समिति के अध्यक्ष की जिम्मेदारी के नाते चार दिवसीय मेला एवं निःशुल्क सेवा शिविर का का औपचारिक रूप से शुभारंभ किया।
इस मौके पर चारों दिन व्यवस्था और सभी नागरिक व्यवस्था का समुचित इंतज़ाम एवं हर क्षण को श्रद्धालुओं को समुचित सेवा के मकसद से निःशुल्क सेवा शिविर का संचालन किया गया है। सब जानते हैं कि खैरा गढ़ की मां दुर्गा के प्रति पूरे इलाके में गहरी आस्था है। लिहाज़ा अष्टमी से नवमी और विजयादशमी तक बड़ी तादाद में लोग मां दुर्गा के दर्शन की अभिलाषा तथा पूजा-अर्चना के लिए यहां आते हैं। ऐसे में अनुष्ठानिक तरीके से माता की पूजा की व्यवस्था, भीड़ प्रबंधन से लेकर सुरक्षा-व्यवस्था प्रबंधन, मेले के इंतज़ाम, स्वच्छता की समुचित व्यवस्था, पेयजल का प्रबंध, मेले में निर्बाध विद्युत आपूर्ति और ऐसे छोटे-बड़े बहुत सारे मसलों पर नजर रखना दुर्गा पूजा समिति के साथियों का दायित्व बनता है।
नवरात्र के साथ-साथ विजयादशमी का यह उत्सव हम सभी मिलकर उल्लास से मनाएं, कोई विघ्न पैदा न हो। उत्सवधर्मिता के साथ-साथ सावधानी और व्यवस्था के प्रति तत्परता से ऐसे पावन मौके की खुशियां कई गुनी बढ़ जाती है। वैसे तो सब कुछ जगतजननी माता जगदम्बा की कृपा से सम्पन्न होता है, लेकिन उनके सेवक-संतान होने के नाते हम सबका भी कर्तव्य है कि सब कुछ शांतिपूर्ण तरीके से, उमंग, ख़ुशी, आनंद के साथ निर्विघ्न सम्पन्न हो। लिहाजा, हम सब प्रेमपूर्वक सौहार्द और सद्भाव के साथ दुर्गा पूजा महोत्सव मनाने के लिए सम्पूर्ण सर्वांग से समर्पित हैं। यहां के युवा साथियों के ऊर्जा, उत्साह से सब बेहतर होगा। इस मौके पर बड़ी संख्या में स्थानीय लोग वहां उपस्थित थे।

About Post Author

You may have missed