February 25, 2024

जननायक कर्पूरी ठाकुर का जन्मशताब्दी समारोह शानदार और यादगार होगा : उमेश कुशवाहा

  • जननायक कर्पूरी ठाकुर जन्मशताब्दी समारोह को ऐतिहासिक बनाने के लिए जदयू अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ की तैयारी बैठक

पटना। मंगलवार को अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के तत्वावधान में सांगठनिक विस्तारित सह जननायक कर्पूरी ठाकुर जन्मशताब्दी समारोह की तैयारी बैठक की गई। वही इस कार्यक्रम की अध्यक्षता अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. अशरफ हुसैन ने की। वही इस कार्यक्रम में मुख्य रूप से मौजूद पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुशवाहा, वित्त मंत्री विजय चैधरी, अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री जमा खां, विधानपरिषद के मुख्य सचेतक संजय कुमार सिंह, पार्टी के कोषाध्यक्ष सह माननीय विधान पार्षद ललन सर्राफ, विधान पार्षद खालिद अनवर, सुन्नी वफ्फ बोर्ड के अध्यक्ष जनाब इर्शादुल्ला, शिया वफ्फ बोर्ड के अध्यक्ष अफजल अब्बास, प्रदेश महासचिव अरुण कुमार सिंह आदि उपस्थित रहे। वही इस कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुशवाहा ने कहा कि आप सभी संगठन के समर्पित और अनुभवी साथीगण है। संगठन की चुनौतियों को भलीभांति समझते हैं। संगठन में कभी विश्राम या विराम नहीं होता है। आज का यह बैठक बेहद महत्वपूर्ण समय पर हो रहा है। प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि 24 जनवरी 2024 को आयोजित जननायक कर्पूरी ठाकुर के जन्मशताब्दी समारोह को भव्य, शानदार और यादगार बनाना है। इसमें अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ की सहभागिता महत्वपूर्ण होनी चाहिए। आप सभी साथियों से पार्टी को अधिक अपेक्षा है। अल्पसंख्यक समाज के तमाम नेताओं से हम आग्रह करेंगे कि अपने-अपने क्षेत्र में जाएं और लोगो को कार्यक्रम में आने का नेवता दें। उन्होंने आगे कहा कि लोकनायक जयप्रकाश नारायण, कर्पूरी ठाकुर, राममनोहर लोहिया, महात्मा गांधी व भीमराव अंबेडकर के विचारों पर हमारी पार्टी चल रही है। हमारे नेता मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इनके ही विचारों को आत्मसात कर प्रदेश उत्थान में दिनरात लगे हुए हैं। प्रदेश अध्यक्ष ने आगे कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के द्वारा अल्पसंख्यक समाज के शैक्षणिक, सामाजिक व आर्थिक उत्थान के लिए अल्पसंख्यक आयोग का गठन किया गया। 18 साल के शासनकाल में बिहार के अंदर एक भी साम्प्रदायिक हिंसा नहीं हुआ। वही, दूसरी ओर भाजपा गंगा-जमुनी तहजीब को खत्म करना चाहतें हैं। हमें ऐसे लोगों से सचेत रहने की आवश्यकता है।

About Post Author

You may have missed