आदिवासी और महिला होने के कारण देश के प्रथम नागरिक का अपमान कर रही बीजेपी : नीरज कुमार

पटना। संसद के नए भवन का उद्घाटन 28 मई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे। इसको लेकर राजनीति तेज है। आरजेडी-जदयू समेत देशभर की 19 सियासी दलों ने संयुक्त रूप से उद्घाटन समारोह का बहिष्कार करने का फैसला लिया है। वहीं जेडीयू प्रदेश कार्यालय में शुक्रवार को पार्टी के मुख्य प्रवक्ता नीरज कुमार ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बीजेपी पर हमला बोला। नीरज कुमार ने कहा कि बीजेपी वाले सवाल उठा रहे हैं कि नीतीश कुमार ने उद्घाटन क्यों किया और राज्यपाल को क्यों नहीं बुलाया तो मैं बता दूं कि राष्ट्रपति का चुनाव होता है। वो नॉमिनेट नहीं होते हैं। वो निर्वाचित होते हैं। संसद के सदस्य और साथ ही साथ विधानसभा के माननीय सदस्य वोट डालते हैं, तो आप तुलना किससे कर रहे हैं। नीरज कुमार ने कहा कि ये सीधे तौर पर बीजेपी की नौटंकी है। नीरज कुमार ने बीजेपी को कहा कि ये सीधा एक आदिवासी और महिला होने के कारण आपने देश के प्रथम नागरिक (राष्ट्रपति) का अपमान किया है इसलिए जेडीयू ने इस बार फैसला लिया है कि हम इस पूरे कार्यक्रम से बाहर रहेंगे। जेडीयू प्रवक्ता ने कहा कि 1970 में तत्कालीन राष्ट्रपति वीवी गिरि ने संसद भवन की एनेक्सी बिल्डिंग का भूमि पूजन और शिलान्यास किया था, इंदिरा गांधी ने उद्घाटन किया था, लेकिन आज तो हम ही शिलान्यास भी करेंगे और हम ही उद्घाटन भी करेंगे। नीरज कुमार ने कहा कि हमारी समझ है कि पीएम मोदी और अमित शाह ये सीधे तौर पर राजनीतिक रूप से दिमागी साजिश के तहत जो आदिवासी है उनको राजनीतिक रूप से अछूत मानते हैं। वहीं नए संसद भवन की तस्वीर दिखाते हुए नीरज कुमार ने कहा कि ये सनातन धर्म का अपमान करने वाले लोग हैं। राजद-जदयू और कांग्रेस सहित कई विपक्षी दलों ने राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू की जगह पीएम मोदी द्वारा नई संसद के उद्घाटन पर आपत्ति जताई है।

About Post Author