February 5, 2023

बिहार में भारत जोड़ो यात्रा के दौरान पिछले एक सप्ताह में लाखों लोगों ने भाग लिया, यात्रा ने 110 किलोमीटर की दूरी की तय

  • हौसलों से उड़ान होती है, पंखों से नहीं : डॉ. अखिलेश प्रसाद सिंह

पटना। बिहार में भारत जोड़ो यात्रा के दौरान पहले सप्ताह में लाखों लोगों ने शिरकत की। यह यात्रा 110 किलोमीटर की दूरी तय कर चुकी है। ‘हौसलों से उड़ान होती है, पंखों से नहीं’ ये बातें आज बिहार प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष डॉ. अखिलेश प्रसाद सिंह ने फ़र्स्ट फ़ेस के यात्रा समाप्त होनें पर कही। वही इस यात्रा ने 2024 के लोकसभा चुनाव लिए पार्टी का टोन सेट कर दिया है। भारत जोड़ो यात्रा के बिहार के प्रथम चरण में 110 किलोमीटर की यात्रा करने और पहले सप्ताह में लाखों लोगों तक पहुंचने के बाद यात्रा ने एक संक्षिप्त विराम लिया। वही इस यात्रा ने बिहार ने BJP के खेमें में खतरे की घंटी बजा दी है। दूसरी ओर अपने नए तपस्वी अवतार में कांग्रेस के लोकप्रिय नेता राहुल गांधी का उदय हुआ है। बता दे की हाड़ कंपा देने वाली इस ठंड के बावजूद भारी संख्या में लोग इस यात्रा से जुड़ रहे है। उत्साही पार्टी कार्यकर्ताओं की भागीदारी और इस पदयात्रा के दौरान प्रदर्शित अनुकरणीय नेतृत्व ने बिहार में 2024 के लिए पार्टी की दिशा तय कर दी है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डॉ. अखिलेश प्रसाद सिंह ने भारत जोड़ो यात्रा बिहार को मिले इस अपार समर्थन के लिए बांका और भागलपुर के लोगों का सम्मान करते हुए कहा कि बिहार में कांग्रेस बिहार की जनता को समर्पित एक नई यात्रा पर निकली है।

वही उन्होंने कहा कि हमें विश्वास है कि हौसलों से उड़ान होती है पंखों से नहीं। आने वाले दिनों और महीनों में बिहार में कांग्रेस एक नये रूप में दिखेगी। भाजपा की नफरत और इस विभाजनकारी राजनीति को हम न केवल वैचारिक रूप से हराएंगे, बल्कि बिहार के जरूरतमंद लोगों की सेवा के लिए पार्टी के संगठनात्मक ढांचे को भी जोड़ेंगे। डॉ. अखिलेश प्रसाद सिंह ने कहा कि कांग्रेस गरीब लोगों के दर्द और पीड़ा से जुड़ती है और हम यहां सेवा करने के लिए हैं। वही मंगलवार को प्रदेश अध्यक्ष डॉ. अखिलेश प्रसाद सिंह के नेतृत्व में पदयात्रा गौरीपुर के सयादेव उच्च विद्यालय से शुरू हुई और बभनगामा, बिहपुर रेलवे स्टेशन से होते हुए स्वराज्य आश्रम, बिहपुर में चाय विश्राम के लिए रुकी। स्वराज आश्रम में एक सभा का भी आयोजन किया गया। वही आगे की पदयात्रा दोमुही चौक, सोनवर्षा से होते हुए आर्य केंद्रीय विद्यालय में दिन के अवकाश के लिए रुकी। दिन के अंतिम चरण में यह जयरामपुर और नानखार से होते हुए भवरपुर दुर्गास्थान में पूजा-अर्चना कर रात्रि विश्राम के लिए खगडिय़ा में रुकी।

वही इस यात्रा में भागलपुर के विधायक व कांग्रेस विधायक दल के नेता अजीत शर्मा, विधान परिषद सदस्य राजीव कुमार, बीपीसीसी के पूर्व अध्यक्ष अनिल शर्मा, पूर्व विधायक मनोज सिंह, बँटी चौधरी, जिला कांग्रेस अध्यक्ष परवेज आलम, कांग्रेस नेता कपिलदेव यादव, प्रवीण कुशवाहा, गप्पू राय, आकाश कुमार सिंह, मंटन सिंह, धनंजय शर्मा, आभा सिंह, अरविंद सिंह, धर्मवीर शुक्ला, नागेंद्र विकल, कुमार आशीष, मिन्नत रहमानी,  केसर सिंह, अमरेश अनीश, अविनाश प्रसाद सिंह, निरमलेंदु वर्मा, अमिताभ शरण, कैलाश पाल, पप्पूसिंह, विद्यानंद मिश्र,सार्जन सिंह, सुधा मिश्रा, जन्मोंत्री ममता निषाद,  रीता सिंह, निधि पांडे, कोमल सृष्टि, मो. रियाज़, अनामिका शर्मा, विनी यासमीन, मो. ज़ाहिद मुखजा, संतोष पांडेय, मुज़फ़्फ़र अहमद, दिलीप ओझा, अश्वनी कुमार, कुंदन गुप्ता, अमित कुमार सिंह, सिद्धार्थ क्षत्रिय, कमल कमलेश, अनिल कुमार वर्मा, महेश राय, राजीव सिन्हा, विपिन ओझा, प्रमोद मंडल, अम्बर इमाम, आलोक हर्ष, सत्येंद्र यादव, पुष्पज कुमार, गौरव कुमार, विपिन यादव, अभयानंद झा, शिवशंकर सिन्हा आदि उपस्थित रहे। स्वयं सेवी संस्थाओं से अशोक प्रियदर्शी, प्रदीप प्रियदर्शी, मुरारी जी एवं गांधियन फ़िलासफ़ी विभाग, भागलपुर विश्वविद्यालय के अध्यक्ष डॉ.विजय कुमार भी पदयात्रा में शामिल रहे।

About Post Author

You may have missed