पूर्णिया में पिता के मौत के बाद सदमे में आई किशोरी नदी में कूदी, गोताखोरों ने बचाई जान

पूर्णिया। बिहार के पूर्णिया जिले में गुरुवार को 18 साल की किशोरी ने कप्तान पूल से सौरा नदी में छलांग लगा दी। नाबालिग के नदी में छलांग लगाते ही स्थानीय लोगों की भीड़ मौके पर जुट गई। किशोरी को डूबता देख वहां खड़े लोगों ने शोर मचाना शुरू किया। गोताखोरों ने सौरा नदी में छलांग लगाई। कुछ ही मिनटों के भीतर वहां मौजूद कुछ तैराकों ने लड़की को बचा लिया। किशोरी पिता की मौत के बाद से सदमे में है। किशोरी के सौरा नदी में छलांग लगाने की सूचना मिलते ही परिजन मौके पर पहुंचे। इतने में ही सदर थाना की पुलिस मौके पर पहुंच गई। जिसके बाद किशोरी को इलाज के लिए जीएमसीएच पूर्णिया में एडमिट कराया गया। जहां लड़की की हालात सामान्य बनी हुई है। किशोरी के भाई ने बताया कि कुछ ही साल पहले उनके पिता की मौत हो गई थी। इसके बाद से ही किशोरी सदमे में रहने लगी। उनके दादाजी का गुलाबबाग मंडी में गद्दी है। इसी से उनका परिवार चलता है। हाल के दिनों से उनकी बहन की मानसिक स्थिति ठीक नहीं चल रही थी। बहन का इलाज भी अस्पताल में चल रहा है। देर दोपहर बगैर कुछ बोले घर से निकल गई। कुछ ही घंटे बाद पहचान वाले का कॉल आया और फिर समूचे घटनाक्रम की जानकारी दी गई। जिसके बाद मैं मौके पर पहुंचा और बच्ची को जीएमसीएच पूर्णिया में एडमिट कराया। दूसरी तरफ किशोरी की सौरा नदी में कूदने को लेकर तरह -तरह की बातें सामने आ रही है। कुछ लोगों का कहना है कि किशोरी को प्यार में धोखा मिला, जिसके बाद उसने ये कदम उठाया। तो वहीं कुछ लोगों का कहना है पिता की मौत के बाद से वो सदमे में चली गई। मानसिक स्थिति बिगड़ने के कारण उसने ये कदम उठाया।

About Post Author

You may have missed