December 10, 2022

तख्तश्री कमेटी में अध्यक्ष बने हिट तो महासचिव एमपी ढिल्लन, 2019 में गुरु नानकदेव जी का 550वां साला धूमधाम से मनाने की घोषणा

पटना सिटी (आनंद केसरी)। तख्तश्री हरिमंदिर जी प्रबंधक कमेटी की नई कमेटी अस्तित्व में आ गई। कमेटी की मीटिंग शुरू होने के पूर्व जत्थेदार भाई इकबाल सिंह ने अरदास किया। मीटिंग की अध्यक्षता वरीय सदस्य डॉ गुरमीत सिंह ने की। कमेटी में 8 सदस्यों के बहुमत के साथ अध्यक्ष अवतार सिंह हिट (दिल्ली) सर्वानुमति से चुने गए। वरीय उपाध्यक्ष डॉ गुरमीत सिंह (लखनऊ), कनीय उपाध्यक्ष इंद्रजीत सिंह (साउथ बिहार), महासचिव महेन्द्रपाल सिंह ढिल्लन (जिला जज से मनोनीत) और सचिव पद पर महेन्द्र सिंह छाबड़ा (हलका-3) बने। हिट के समर्थन में एसजीपीसी से गोबिंद सिंह लोंगोवाल, सुरेंद्र सिंह (सीकेडी) और कॉप्ट से आये हरपाल सिंह जोहल हैं। विपक्ष में हलका-1 के राजा सिंह, हलका-2 के हरबंश सिंह, नार्थ बिहार के लखविन्दर सिंह, जिला जज से मनोनीत जगजोत सिंह सोही, तरलोचन सिंह और कोलकाता के कमिकर सिंह हैं। बाद में पत्रकारों से बात करते अध्यक्ष अवतार सिंह हिट और महासचिव महेन्द्रपाल सिंह ढिल्लन ने कहा कि जिस तरह दशमेश पिता गुरु गोविंद सिंह जी महाराज का 350वां प्रकाश पर्व धूमधाम से मनाया गया, उसी तरह गुरु नानकदेव जी का 550वां साला भी पटना साहिब में धूमधाम से मनाया जाएगा। गुरु नानकदेव जी और गुरु तेग बहादुर जी का चरण पटना की धरती पर पड़ चुका है। पटना-अमृतसर के बीच सीधी हवाई सेवा, अकालतख्त सुपरफास्ट को डेली करने, पटना साहिब-अमृतसर और श्री हजूर साहिब (नांदेड़) के लिए ट्रेन सेवा शुरू करने, गुरुमुखी समेत कुछ अन्य ट्रेनों का ठहराव पटना साहिब स्टेशन कराने की दिशा में पहल करने की बात कही। पिछली कमेटी में पक्ष-विपक्ष के सदस्यों के बीच तालमेल का अभाव और विवाद की भी स्थिति रही। इस बार गुरु घर और संगतों की सेवा और बेहतरी के लिए सभी मिलकर काम करेंगे। मीटिंग की समाप्ति के बाद सभी दरबार साहिब में जाकर हाजरी लगाए। जत्थेदार भाई इकबाल सिंह ने सभी को आशीष स्वरूप सरोपा प्रदान किया। दरअसल रात तक एसजीपीसी के गोबिंद सिंह लोंगोवाल का अध्यक्ष बनने पर सहमति बन गई थी, मगर ऐन वक्त पर बाजी पलट गई और अवतार सिंह हिट अध्यक्ष बन गए।

About Post Author

You may have missed