December 6, 2022

बिहार : महिलाओं की सुरक्षा का चक्र मजबूत, अपराध में आई कमी, छेड़खानी पर सबसे अधिक अंकुश 

पटना। बिहार के लिए एक अच्छी खबर है। बिहार में महिलाओं सुरक्षा का चक्र और मजबूत हुआ है। वही उनकी सुरक्षा बढ़ी है। पिछले साल अगस्त के मुकाबले इस साल राज्य में महिलाओं के खिलाफ होने वाले अपराध में साढ़े छह फीसदी की कमी आयी है। बता दे की बिहार पुलिस ने छेड़खानी पर सबसे अधिक अंकुश लगाया है। इसमें सबसे अधिक 25।96 फीसदी की कमी आयी है। वही दहेज उत्पीड़न की घटनाएं 1।87 फीसदी कम हुई हैं।
अपराध में आई कमी
बता दे की महिला उत्पीड़न के मामले भी पिछले साल के मुकाबले 8।25 तथा डायन एक्ट के मामलों में 9।04 फीसदी की गिरावट है। वही बलात्कार के मामले में आधा फीसदी से अधिक की कमी है। NCRB ने कुछ दिन पहले ही वर्ष 2021 की रिपोर्ट जारी की थी। पुलिस मुख्यालय ने इस रिपोर्ट में पुलिस मुख्यालय ने जारी किये अपराध के आंकड़े महिलाओं के खिलाफ अपराध में साढ़े छह फीसदी की कमी महिलाओं के खिलाफ अगस्त 2021 तक हुई घटनाओं से अगस्त 22 तक दर्ज मामलों का अध्ययन किया, तो पुलिस की उपलब्धि साफ झलक रही है। वही बीते साल अगस्त तक महिलाओं के साथ 5292 घटनाएं हुई हैं। चालू वर्ष में अगस्त तक दर्ज कांड की संख्या 5341 है। अपर पुलिस महानिदेशक जितेंद्र सिंह गंगवार ने शुक्रवार को प्रेस कौन्फ्रेश कर बिहार पुलिस की इस उपलब्धि को मीडिया के साथ साझा किया। वही उनका कहना था कि महिलाओं की सुरक्षा लगातार बढ़ रही है। उनकी सुरक्षा के लिए पुलिस गंभीरता से कार्रवाई कर रही है। बिहार में सामूहिक बलात्कार एवं बलात्कार साथ हत्या की कोई घटना दर्ज नहीं हुई हैं।

About Post Author

You may have missed