February 26, 2024

फुलवारीशरीफ दुष्कर्म कांड के अपराधियों पर 50 हजार का इनाम, पटना पुलिस ने की घोषणा

फुलवारीशरीफ,(अजीत)। पटना के फुलवारी शरीफ में दो मासूम बच्चियों के साथ सामूहिक दुष्कर्म एवं एक बच्ची की हत्या मामले में शामिल अपराधियों की गिरफ्तारी में सहयोग करने वाले को पटना पुलिस ने इनाम देने की घोषणा की है। पटना के सीनियर एसपी राजीव कुमार मिश्रा के हवाले से प्रेस बयान जारी किया गया है जिसमें बताया गया है कि इस जघन्य कांड के आरोपियों को पकड़वाने में सहयोग करने वाले का नाम पता पहचान गुप्त रखा जाएगा, इसके साथ ही ऐसे लोगों को 50,000 का इनाम दिया जाएगा। गांव में बढ़ते तनाव को देखते हुए बड़ी संख्या में पुलिस बल की तैनाती कर दी गई है पुलिस का दावा है कि एक आरोपी ने दोनों बच्चियों को अपनी हवस का शिकार बनाया। स्थानीय लोग आरोपी को गिरफ्तार कर फांसी की सजा देने की मांग कर रहे हैं। गांव की कोई लड़की स्कूल या अन्य काम से बाहर नहीं जा रही हैं। सोमवार को महादलित टोला की दो बच्चियों के साथ रेप किया गया और एक की हत्या कर दी गई। मंगलवार को हिंदुनी गांव में एक खेत में उसकी लाश मिली। वहीं दूसरी लड़की अर्द्धबेहोशी की हालत में थर-थर कांप रही थी। जानकारी के मुताबिक सोमवार को दोनों लड़कियां जलावन की तलाश में घर निकलीं लेकिन देर रात तक नहीं लौटीं। परिजनों ने इस मामले में फुलवारी शरीफ थाना पुलिस को सूचना दी थी लेकिन पुलिस ने कोई ध्यान नहीं दिया। इस बात से स्थानीय लोगों में जबरदस्त गुस्सा है। इसी के विरोध में गुरुवार को भी लोगों में काफी आक्रोश दिखा। इस मामले में फुलवारी शरीफ एसपी विक्रम सिहाग ने बताया की एसआईटी की टीम जांच पड़ताल के लिए घटनास्थल पड़ गई थी। उसी समय उपद्रवी तत्वों ने पत्थरबाजी की। एएसपी ने बताया कि पुलिस की टीम एक घर के पास खड़ी थी। लोगों को किसी बात की आशंका हो गई। इसलिए पुलिस और उस मकान पर पत्थर चलाए गए। किसी को गंभीर चोट नहीं आई है। उन्होंने बताया कि घटना के शिकार दूसरी बच्ची होश में आ गई है। उसका इलाज पटना एम्स में कराया जा रहा है। बच्ची ने बताया है कि घटना में एक युवक शामिल था। इस मामले में पुलिस को अभी तक कोई लीड नहीं मिली है। इसलिए घटना और आरोपी का सुराग देने के लिए 50,000 के इनाम देने की घोषणा की गई है। एसपी ने बताया कि आरोपी की पहचान और उसकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस छापेमारी कर रही है। एफएसएल टीम ने घटना स्थल से सबूत इकट्ठे किए हैं। इन साक्ष्यों को एम्स में सुरक्षित रखा गया है बाद में वैज्ञानिक जांच और डीएनए जांच में इन सबूतो का उपयोग होगा। इधर पटना एसएसपी राजीव मिश्रा ने कहा है कि एक महिला आईपीएस और सादे लिवास एक महिला पुलिस ऑफिसर को बच्ची के पास लगा दिया गया है। ये लोग परिवार से मामले की जानकारी ले रही है। बच्ची की काउन्सेलिंग की जा रही है। पुलिस घटना वाले इलाके में सीसीटीवी कैमरा में रिकॉर्ड वीडियो को खंगाल रही है।

About Post Author

You may have missed