December 10, 2022

किसी के साथ अमानवीय व्यवहार सभ्य समाज के लिए घातक

फुलवारीशरीफ। एक नाबालिग 10 से 12 साल का लड़का जो भले ही शातिर चोर है। कई बार चोरी करते पकड़ा गया और पुलिस ने गिरफ्तार कर उसे बाल सुधार गृह भी भेजा। वही नाबालिग चोर कुछ दिनों पूर्व ही बाल सुधार गृह से छूटकर आया था और फिर मोबाइल चोरी में पकड़ा गया। मुहल्ले में बार बार किसी न किसी के घर-दुकान में छोटी-मोटी चोरी की हरकतों से नाबालिग लड़का बाज नहीं आ रहा था। लोगों की परेशानी भी जायज है लेकिन फिर भी किसी भी सभ्य समाज में इसे जायज नहीं ठहराया जा सकता है कि उस नाबालिग चोर के आरोपित लड़के को अमानवीय तरीके से नंगा करके पेड़ से बांध कर सरेआम पिटाई की जाए। इतने से भी लोगों का मन नहीं भरा तो उसके शरीर पर चीनी पानी का घोल से नहलाकर चिंटियों से कटवाया जाना कहीं से भी उचित नहीं है। जुर्म चाहे जिस उम्र के लड़के ने किया था और आरोप भी क्यों न छोटी-मोटी चोरी का ही हो, फिर भी उस लड़के के साथ क्रूरतापूर्वक अमानवीय तरीके से पिटाई किये जाने के दौरान भीड़ का हिस्सा बनकर तमाशबीन बने रहना हमारे समाज की मर चुकी आत्मीयता और गैर जिम्मेदारी का अहसास कराता है। जब लड़के को नंगा करके भीड़ पिटाई कर रही थी तो उसे बचाने और पुलिस को खबर दिए जाने के जगह लोगों में आजकल सेल्फी और वीडियो बनाने का शर्मनाक क्रेज बढ़ जाना भी समाज के भविष्य के लिए खतरनाक है। ऐसी घटनाओं से पूरा समाज शर्मसार होने लगा है। चंद लोग जिनकी मानवीय संवेदना मर चुकी है वैसे लोगों के साथ भीड़ में तमाशबीन बने रहना आने वाली पीढ़ी को गलत राह पर ले जाने का प्रमाण है। जरूरत है ऐसे लोगों को उनके गुस्से को जागरूकता अभियान चलाकर समाप्त करने की। आये दिन कहीं न कहीं से इस तरह की अमानवीय और मानवता को झकझोर देने वाली खबरें आती रहती है। ऐसे कृत्य में शामिल लोगों के खिलाफ भी चिन्हित करके सख्त सजा देना भी सरकार और कानून के रखवालों की जिम्मेदारी है। अमूमन ऐसा होता नही हैं। एक-दो लोगों को ही पुलिस अपनी कार्रवाई का हिस्सा बनाती है। जरूरत है ऐसे घटनाओं के सामने आने के बाद सामूहिक रूप से दंडात्मक कार्रवाई करने की ताकि आगे से कोई ऐसे घटनाओं को अंजाम देने से डरे और समाज के लोगों में भी भय का माहौल हो और कानून का डर भी बना रहे। फुलवारी शरीफ के ईसापुर में चोरी के आरोपित नाबालिग लड़के के साथ जैसा अमानवीय व्यवहार किया गया वैसा दूसरे जगह करने से पहले लोग सोचेंगे।
वायरल वीडिया के फुटेजे की जांच कर रही है पुलिस: मोबाइल चोरी के आरोप में नाबालिग को पेड़ से बांधकर नंगा पीटने और उसकी वीडियो बना कर सोशल मीडिया में वायरल होने पर पुलिस वायरल वीडियो की जांच कर रही है और इस अमानवीय घटना में जो भी शामिल होंगे, उन पर कारवाई भी होगी। घटना में शामिल लोगों को निशानदेही की जा रही है। इस मामले में दोनो ओर से प्राथमिकी दर्ज हुई है। नाबालिग चोर के बयान पर नूर आलम और उसके भाई महमूद समेत अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कराया है। वहीं नूर आलम ने भी नबालिग चोर के खिलफ प्राथमिकी दर्ज करायी है। थानेदार मो कैसर आलम ने बताया कि नबालिग चोर को सुधार गृह भेजा जायेगा और पेड़ में बांध कर पीटने वाले दोनों भाइयों को भी जेल भेजा जायेगा। पुलिस वायरल वीडिया के फुटेजे की जांच कर रही है, जो भी इस घटना में शामिल होगें उन पर भी कारवाई की जायेगी।
क्या था मामला: शनिवार की सुबह ईसापुर के अधपा मोहल्ले में मोबाइल चोरी के आरोप में लोगों ने एक दस साल का नाबालिग चोर को निर्वस्त्र करके पेड़ से बांधकर पिटाई की और उसके शरीर पर चीनी का घोल डालकर चींटियों से कटवाया। इतना ही नहीं लोगों ने नंगा पिटते नाबालिग चोर का सोशल मीडिया में वीडियो बना कर वायरल कर दिया गया था।

About Post Author

You may have missed