December 5, 2022

अटल की कृतियों को भाजपा कराएगी प्रकाशित

भद्र घाट पर सुमो, नंदकिशोर और नित्यानंद ने अटल की अस्थियों को गंगा में किया प्रवाहित

पटना सिटी (आनंद केसरी)। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की अस्थि को शनिवार को भद्र घाट पर गंगा में विसर्जित कर दिया गया। इसके पूर्व अस्थि को लोगों के दर्शनार्थ वाहन से एनएच 30 से होते गुरु गोविंद पथ अशोक राजपथ के रास्ते भाड घाट पहुंचा। यहां भाजपा कला संस्कृति प्रकोष्ठ के पवन कुमार सिंह के नेतृत्व में गायक चक्रवारई कुमार सिंह, पापिया गांगुली आदि ने भजनों मि प्रस्तुति कर श्रद्धांजलि दी। इस बीच अस्थि कलाध वाहन के पहुंचते ही पथ ससम्मान मंच तक लाया गया। सबों ने श्रद्धांजलि दी। डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी ने कहा कि अटल जी की स्मृति को संग्रहित कर पुस्तक का रूप दे बिहार भाजपा के द्वारा प्रकाशित करा लोगों के बीच वितरित कराया जाएगा, ताकि आज की पीढ़ी उनके बारे में जान सके। श्री मोदी ने कहा कि ऐसा व्यक्ति, जो 14 साल पूर्व पीएम के पद से हटा। जिस शख्स को 14 साल से किसी ने न देख न सुना, ऐसे महामानव के निधन पर देश-विदेश के लोग मर्माहत हैं। पथ निर्माण मंत्री नंदकिशोर यादव ने भी अटल जी से जुड़े संस्मरण सुनाए और उनका बिहार की विकास और प्रेम के बारे में बताया। श्री यादव ने बताया कि 1991 में अंतिम बार अटल जी प्रो. शैलेंद्रनाथ श्रीवास्तव के चुनाव के दौरान पटना सिटी आये थे। केंद्रीय मंत्री रामकृपाल यादव, विधायक नितिन नवीन, संजीव कुमार चौरसिया, मेयर सीता साहू और हम के श्रीप्रकाश मालाकार ने भी अपनी बातें रखीं। विधायक अरुण कुमार सिन्हा ने कहा कि अटल जी ने जय जवान, जय किसान और जय विज्ञान का नारा देकर युवाओं को जोड़ने और विकास करने का काम किया। प्रदेश अध्यक्ष सह सांसद नित्यानंद राय ने कहा कि अटल जी कहा करते थे कि देश की सीमा सुरक्षित, समाज सबल और परिवार सुखी होना चाहिए। नित्यानंद ने घोषणा किया कि डिप्टी सीएम ने जो घोषणा की है पुस्तक प्रकाशित करने के संबंध में, उसे पूरा किया जाएगा। संचालन धनंजय मेहता ने किया। इस दौरान पटना सिटी व्यापार मंडल के प्रदीप सिंह यादव, अवधेश सिन्हा, भाजपा के रूपनारायण मेहता, सन्नी यादव, प्रदीप काश, राजेश साह, ज्ञानेंद्र ज्ञानू, संजीव यादव, प्रदीप मेहता, विनय केसरी, किरण शंकर, रंजीत सिन्हा, सीता शर्मा, अंजू सिंह, नवल किशोर सिन्हा, शंकर चौधरी आदि मौजूद थे।

About Post Author

You may have missed