December 8, 2022

लोकसभा चुनाव की सुगबुगाहट: बिहार की सभी सीटों पर चुनाव लड़ेगी बसपा

बसपा में शामिल हुए जदयू नेता अनिल सिंह यादव
कहा- भाजपा के इशारे पर चल रही जदयू

पटना। विधान परिषद चुनाव में सासाराम से जदयू के उम्मीदवार रहे अनिल सिंह यादव बहुजन समाज पार्टी (बसपा) में शामिल हो गए। उन्हें बसपा के राष्ट्रीय महासचिव राम अचल राजभर ने पार्टी की सदस्यता दिलाई। साथ ही उन्हें काराकाट लोकसभा क्षेत्र का प्रभार भी दिया गया। बसपा में शामिल होने के बाद अनिल सिंह यादव ने जदयू पर भाजपा के इशारे पर काम करने का आरोप लगाया और कहा कि देश में दलितों, पिछड़ों, गरीबों और आम जनों की आवाज सत्ता में बैठे लोग सुनते ही नहीं हैं। जदयू भी अब भाजपा के इशारों पर चलकर उनके जनविरोधी नीतियों की सहयोगी है। इसलिए हमने देश की गरीब और प्रताड़ित जनता की आवाज सुनने वाली सुश्री मायावती के साथ चलने का निर्णय लिया।
इससे पहले बसपा के राष्ट्रीय महासचिव राम अचल राजभर ने अनिल सिंह का पार्टी में स्वागत और अभिनंदन करते हुए कहा कि बहन मायावती को देशभर में सभी वर्गों का समर्थन मिल रहा है। यही वजह है कि लोग हमारी पार्टी से जुड़ रहे हैं। उन्होंने बताया कि विधान परिषद चुनाव में बेहद कम अंतर से पराजित होने वाले अनिल यादव अपने सैकड़ों कार्यकर्ताओं के साथ मायावती के साथ चलने का निर्णय लिया ही, साथ ही संघर्ष पार्टी आॅफ इंडिया के बिहार प्रदेश अध्यक्ष चंद्रशेखर कुमार तिवारी ने अपने तमाम कार्यकर्ताओं के साथ अपनी पार्टी का विलय बसपा में कर लिया।
लोकसभा चुनाव में सीटों के सवाल पर राजभर ने कहा कि पार्टी इस लोकसभा चुनाव के सभी 40 सीटों पर अपने उम्मीदवार खड़ा करेगी। इसके लिए पार्टी ने अभी से ही तैयारियां शुरू कर दी हैं। पार्टी प्रदेश में जिलावार कई कार्यक्रम आयोजित कर लोगों के बीच मायावती के संदेश को पहुंचा रही है। इस दौरान समाज के सभी वर्गों का समर्थन बसपा को मिल रहा है। राजभर ने कहा कि वर्तमान में केंद्र की मोदी सरकार और राज्य की नीतीश सरकार की जनविरोधी नीतियों से देश व प्रदेश की जनता हलकान है। एनडीए की सरकार जनहित से जुड़े मुद्दे पर पूरी तरह से फेल गई है। लोगों खुद को पीड़ित महसूस कर रहे हैं। उनके साथ अन्याय और नाइंसाफी हो रही है। अब तो न्याय मिलने की कोई उम्मीद भी नहीं बची है।

About Post Author

You may have missed