February 29, 2024

मुजफ्फरपुर में बाल–बाल बचे सांसद पप्‍पू यादव पहुंचे मधुबनी, कहा- बॉडीगार्ड नहीं रहते तो…

सांसद पप्‍पू यादव ने मधुबनी से की नारी बचाओ पदयात्रा की शुरूआत

पटना/मधुबनी। महिला उत्‍पीड़न के खिलाफ जन अधिकार पार्टी (लो) के राष्‍ट्रीय संरक्षक सह सांसद पप्‍पू यादव ने मधुबनी के बासोपट्टी से नारी बचाओ पदयात्रा की शुरूआत की। आज शुरू हुई यह पदयात्रा 13 सितंबर तक चलेगी। मालूम हो कि पदयात्रा शुरू करने जा रहे पप्‍पू यादव पर मुजफ्फरपुर के खबरा में सवर्ण बंद समर्थकों ने उनकी गाड़ी पर जानलेवा हमला किया और पार्टी कार्यकर्ताओं की भी पिटाई कर दी, जिसके बाद सांसद किसी तरह से वहां से निकल कर बाहर आये। इस दौरान सांसद पप्‍पू यादव ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि अगर मेरे गार्ड न होते, तो मेरी हत्‍या हो जाती है। इस हमले में कई वाहन क्षतिग्रस्‍त हो गये और कई कार्यकर्ता भी घायल हो गये। हमने एसपी और डीआइजी से बात करने की कोशिश की, लेकिन किसी ने फोन नहीं उठाया। फिर हमने सीएम सचिवालय में फोन लगाया तो मुख्‍यमंत्री के निजी सचिव ने कहा कि हम घटना की सूचना सीएम को दे देंगे। आज सीआरपीएफ के जवानों के कारण हमारी जान बची, अन्‍यथा बंद समर्थक हमारी हत्‍या ही कर देते। वहीं, मधुबनी जिले के रामजानकी महाविद्यालय, बासोपट्टी में पदयात्रा को लेकर सांसद ने कहा कि जन अधिकार पार्टी नारी सम्‍मान और मां-बहनों की अस्मिता की रक्षा के लिए प्रतिबद्ध है। इस लक्ष्‍य को हासिल करने के लिए जन-जागरूकता अभियान के तहत नारी बचाओ पदयात्रा का आयोजन किया गया है। आठ दिवसीय इस पदयात्रा में पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ आम लोग भी शामिल होंगे। पदयात्रा के दौरान यात्रा में शामिल लोगों को नारी सम्‍मान का संकल्‍प दिलाया जाएगा।

उन्‍होंने कहा कि थोड़ा व्‍यावधान के बावजूद दूसरे दिन की यात्रा की शुरुआत राहिका से होगी, जो बाढ़ पोखर होते हुए दरभंगा जिले के जिवछ घाट पहुंचेगी। तीसरे दिन की यात्रा जिवछ घाट से शुरू होकर शिशो पश्चिमी होते हुए सिमरी हाईस्‍कूल पहुंचेगी। शिशो पश्चिमी में सभा का आयोजन भी किया जाएगा। चौथे दिन की यात्रा दरभंगा जिले के सिमरी से शुरू होकर केवट्सा होते हुए मुजफ्फरपुर जिले के बखरी पहुंचेगी। पांचवें दिन की यात्रा बखरी से शुरू होगी। पांचवें दिन यानी 10 सितंबर को मुजफ्फपुर में आमसभा का आयोजन किया जाएगा। सभा के बाद यात्रा शुरू होगी और शाम तक तुर्की होते हुए वैशाली जिले के गौरोल पहुंचेगी। छठे दिन यात्रा गौरोल से शुरू होगी, जो भगवानपुर होते हुए दिघी पहुंचेगी। वहीं 7वें दिन वैशाली जिले के दिघी से शुरू होने वाली यात्रा हाजीपुर पहुंचेगी। हाजीपुर में आमसभा का आयोजन किया जाएगा। सभा के बाद पदयात्री गांधी सेतु पार करके पहाड़ी होते हुए कंकड़बाग पहुंचेंगे। यात्रा के अंतिम दिन यानी 13 सितंबर को पदयात्री कंकड़बाग से चलकर शहीद स्‍मारक पहुंचेंगे। शहीद स्‍मारक पर माल्‍यार्पण के बाद पदयात्रा का औपचारिक समापन होगा। इसके बाद आयोजित जनसभा को सांसद पप्‍पू यादव संबोधित करेंगे।

About Post Author

You may have missed