February 5, 2023

किसानों की सच्ची हितैषी है नीतीश सरकार : राजेश तिवारी

पटना। बिहार प्रदेश JDU के प्रदेश सचिव राजेश तिवारी ने कहा की नीतीश सरकार ने किसानों के लिए जो नीति और लाभकारी योजनाएं लागू की हैं। जैसे  जैविक खेती, प्रोत्साहन योजना के माध्यम से जैविक खेती को बढ़ावा देने हेतु जैविक कोरिडौर का निर्माण किया जा रहा है, गंगा के किनारे पड़ने वाले गाँव तथा  राष्ट्रीय व राजकीय मार्ग के किनारे बसे गाँवों में जैविक कोरिडौर का निर्माण किया जायेगा। वही इस तरह अन्य योजना के माध्यम जैसे कृषि यांत्रिकरण, ई-किसान भवन का निर्माण, टाल विकास योजना, दियारा विकास योजना प्रत्येक पंचायत में पदस्थापित किसान सलाहकारों के मानदेय राज्य योजना से कर्णांकित की गई है। वही किसान सलाहकार योजनाके द्वारा प्रत्येक पंचायत में पदस्थापित किसान सलाहकारों के मानदेय राज्य योजना से कर्णांकित की गई है। डीजल अनुदान वितरण द्वारा से अल्पवृष्टि के कारण सुखाड़ जैसी स्थिति को देखते हुए धान बिचड़ा, धान रोपनी करने तथा धान, मक्का एवं अन्य खरीफ फसलों को डीजल चालित पम्पसेट से पटवन करने के लिए सरकार द्वारा किसानों को डीजल अनुदान देने की व्यवस्था की गई है। वही उन्होंने कहा की बाढ़ राहत सहायता योजना के माध्यम से प्रभावित लोगो को तत्काल राहत मिलता है।

बाढ़ या सुखाड़ से क्षति हुई होने पर तत्काल मुआजा मिलता है। केंद्र सरकार ने 33 प्रतिशत कम यूरिया दिया है। उसके बाद भी BJP नेता आय दिन राज्य सरकार पर सावला खड़ा करते रहते हैं। वही तिवारी ने कहा की नीतीश राज किसानों के हित में कई महत्वपूर्ण काम किए गए। खरीफ मौसम में अनियमित मानसून के कारण उत्पन्न स्थिति में सरकार के खजाने पर पहला हक आपदा पीड़ितों का है। इसी नीति के तहत किसानों को हरसंभव मदद का प्रयास किया जा रहा है। बारिश न होने की वजह से फसलों की सिंचाई करने के लिए किसानों को डीज़ल अनुदान 75 रूपया प्रति लीटर के अनुसार उपलब्ध कराया गया। वही चौथे कृषि रोड मैप के सूत्रण का कार्य शुरू किया गया है। वही चौथे कृषि रोड मैप में दलहनी, तेलहनी, पोषक अनाज के बीज उत्पादन तथा क्षेत्र विस्तार हेतु विशेष कार्यक्रम तथा जलवालु अनुकुल कृषि कार्यक्रम को प्रत्येक जिला के पांच-पांच गांवों से बढ़ाकर दस-दस गांव में विस्तारित किया है। वही इस सब काम को देखते हुए भाजपा जब से सरकार बाहर हुई है तब प्रत्येक विकास से जुड़े योजनाओं का विरोध करना शुरू कर दिया है अब किसानों को भड़काने में लगा है।

About Post Author

You may have missed