February 25, 2024

गोविंद सिंह के 357वें प्रकाशोत्सव सीएम नीतीश ने श्रीहरमंदिर में टेका मत्था, प्रकाशपर्व की दी बधाई

पटना। सिखों के दसवें गुरु, गुरु गोविंद सिंह जी महाराज के 357 वें प्रकाशोत्सव धूमधाम से मनाया जा रहा है। प्रकाशोत्सव के मौके पर पटना सिटी स्थित तख्त श्री हरमंदिर में विशेष आयोजन किया गया है। इस मौके पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बुधवार को तख्त श्रीहरमंदिर पहुंचे और गुरु के दरबार में मत्था टेका। दशमेश पिता गुरु गोविंद सिंह जी महाराज के 357वें प्रकाशोत्सव के मौके पर पटनासिटी में हर साल भव्य आयोजन होता है। बिहार सरकार की तरफ से भी इसको लेकर खास तैयारियां की जाती है। प्रकाशोत्सव को लेकर सिख श्रद्धालुओं में खासा उत्साह देखा जा रहा है। मंगलवार को गायघाट गुरुद्वारा से भव्य नगर कीर्तन निकाली गयी थी। पंच प्यारे की अगुवाई में “तख्त साहिब” को रथ पर रखकर नगर भ्रमण करते हुए देर शाम तख्त श्री हरिमंदिर पहुंचा था। बैंड बाजा के साथ निकाले गए नगर कीर्तन में हजारों की संख्या में सिक्ख श्रद्धालु शामिल हुए थे। नगर कीर्तन में सिख श्रद्धालु गुरु के भजन कीर्तन करते नजर आए थे। नगर कीर्तन के साथ ही अखंड पाठ की शुरुआत हो गयी थी। आज यानी बुधवार 17 जनवरी की सुबह अमृत संचार का कार्यक्रम हुआ।गा। निशान साहब की सेवा सुबह नौ बजे से शुरू हो गई। शाम चार बजे तक विशेष दीवान सजेगी। 357 वें प्रकाशोत्सव धूमधाम से मनाया जा रहा है। इस मौके पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार गुरु के दरबार मे पहुंचे और शीष झुकाकर देश और प्रदेश में अमन-चैन और उन्नती की कामना की। इस मौके पर हरमंदिर साहिब प्रबंधक कमेटी की तरफ से मुख्यमंत्री को उपहार स्वरूप शिरोपा सौंपकर उनका स्वागत किया गया। इसके पहले भी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म से बिहार वासियों को प्रकाश पर्व की बधाई दी थी। अपने बधाई संदेश में मुख्यमंत्री ने लिखा था कि श्री गुरु गोविंद सिंह जी महाराज का जीवन संघर्ष, त्याग एवं बलिदान की अनुपम गाथा है। सत्य, निष्ठा, स्वाभिमान, राष्ट्र प्रेम तथा सामाजिक समरसता से परिपूर्ण उनका जीवन संपूर्ण मानवता के लिए प्रेरणादायी है। हर वर्ष की तरह इस बार भी पटना साहिब गुरुद्वारा में प्रकाश पर्व पर मुख्य कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। श्री गुरु गोविंद सिंह जी महाराज के 357 वां प्रकाश उत्सव पर्व 2024 पटना साहिब में काफी धूमधाम से मनाया जा रहा है। इसका शुभारंभ सोमवार सुबह बड़ी प्रभात फेरी के साथ हो गया है। ढोल, ताशा, नगाड़ा, घोड़ा, ऊंट के साथ पटना साहिब के गुरुद्वारा से प्रभात फेरी निकाली गई। इस दौरान पूरा इलाका “बोले सो निहाल, सत श्री अकाल”, “वाहेगुरु जी का खालसा, वाहेगुरु जी की फतेह” के जयकारों से गूंज उठा। वही मंगलवार को अशोक राजपथ से मुख्य मार्ग होते हुए प्रभात फेरी वापस पटना साहिब गुरुद्वारा लौटी। बाहर से आई महिला संगतों ने प्रभात फेरी में गुरु के भजन गाकर समय बांधा। तीन दिनों तक चलने वाले इस कार्यक्रम में सोमवार से ही सिख समुदाय के लोग भक्ति में डूबे नजर आए। भारतवर्ष से  कई राज्यों से श्रद्धालुओं का आवागमन शुरू हो गया है। इसके साथ ही अमेरिका, कनाडा और इंग्लैंड से भी सिख समुदाय के श्रद्धालु यहां पहुंचने लगे हैं। प्रकाश पर्व को लेकर प्रशासन ने भी अपनी तैयारी और सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए हैं। इसे लेकर पटना के जिलाधिकारी चंद्रशेखर सिंह और वरीय आरक्षी अधीक्षक राजीव मिश्रा ने पटना सिटी के गुरुद्वारा साहब प्रबंधन कमेटी के साथ बैठक करके सभी स्थितियों का जायजा लिया है। जिलाधिकारी ने सुरक्षा सहित बाहर से आने वाले श्रद्धालुओं के लिए सभी व्यवस्थाओं को दुरुस्त करने का निर्देश अपने अधीनस्थ पदाधिकारी को दिया है। इसके अलावा वरीय आरक्षी अधीक्षक ने बाहर से आने वाले संगत के लिए सभी तरह की व्यवस्थाओं को करने का निर्देश पुलिस प्रशासन को दिया है।

About Post Author

You may have missed