November 26, 2022

बोरिंग रोड में वेडिंग जोन बनने में अड़ंगा बने दो पार्षद

पटना। राजधानी के अति व्यस्त बोरिंग कैनाल रोड स्थित कुमार टावर के सामने प्रस्तावित वेडिंग जोन में दुकान लगाने वाले वेंडरों की रोजी रोटी पर आखिरकार पटना नगर निगम के 2 पार्षदों ने ग्रहण लगा दिया। वार्ड संख्या 21 की पार्षद पिंकी कुमारी और वार्ड 23 की प्रभा देवी ने वेंडरों को यहां से हटाने के लिए अपने इज्जत से जोड़ लिया था और उक्त दोनों महिला पार्षदों ने सीमा अंतर्गत वेडिंग जोन को यहां से हटाने की ठान ली थी। इसके लिए उक्त दोनों पार्षदों ने नगर आयुक्त, मेयर, यहां तक की डीएम को जमकर पत्राचार किया था।
वहीं उक्त दुकानदारों ने दो दिन पूर्व स्थानीय श्री कृष्णापुरी थाना में वार्ड 21 के पार्षद पिंकी कुमारी और  उनके पति समेत  5 लोगों पर आरोप लगाया था कि जब हम सभी वेंडर उन्हें प्रति दुकान 400-500 रुपया प्रतिदिन देते थे तो सब कुछ ठीक था, यहां तक कि कुछ माह पूर्व इसी जगह पर अतिक्रमण को लेकर वार्ड पार्षद पिंकी कुमारी पर पैसा लेने का आरोप भी लगा था और बोरिंग रोड चौराहा रणक्षेत्र में तब्दील भी हुआ था, लेकिन आज जब कुमार टावर के सामने पार्किंग को वेडिंग जोन बनाने की बात हो रही है तो पार्षद पिंकी कुमारी तिलमिला गई हैं क्योंकि उन्हें अब दुकानदारों से चढ़ावा नहीं मिल पा रहा।
वेडिंग जोन में दुकान लगाने वाले दुकानदारों ने कहा कि हम लोग षड्यंत्र के शिकार हुए हैं। स्थानीय वार्ड पार्षद अपनी धमक जमाने के लिए ऐसा कुचक्र रच रही हैं। उनका कहना है कि हमें जहां तक जाना पड़े हम तुम लोगों को यहां से हटाकर ही मानेंगे।

उल्लेखनीय है कि इससे यही पता चलता है कि उक्त दोनों वार्ड पार्षदों के सम्मान के लिए मेयर व नगर आयुक्त किसी की भी बलि ले सकते हैं। उनके सम्मान को ठेस ना पहुंचे इसी का नतीजा है कि बोरिंग रोड स्थित कुमार टावर से वेडिंग जोन दूसरी जगह शिफ्ट किया जा रहा है, जबकि नगर आयुक्त अनूपम कुमार सुमन ने नगर निगम बोर्ड की बैठक में इस बात को खुद कबूल किया है कि उक्त दो पार्षदों के सम्मान करते हुए वेंडरों को दूसरी जगह शिफ्ट कराया गया है, जबकि उक्त वेडिंग जोन सीमा के अंदर में था। इससे स्पष्ट पता चलता है कि उक्त दो पार्षदों के जिद के आगे पूरा नगर निगम नतमस्तक है। वहीं दूसरी ओर वेंडरों को रोजी रोटी के लिए काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है।

About Post Author

You may have missed